राम मंदिर निर्माण के लिए ये भक्त दान करेगा 51 हजार ईंटें, इस खास मिट्टी से हो रही हैं तैयार

devotees,ram mandir,ayodhya,ayodhya case

चैतन्य भारत न्यूज

अयोध्या. अयोध्या के राम मंदिर निर्माण की तैयारियां शुरू हो गई हैं। राम मंदिर का भूमि पूजन 5 अगस्त को होना है। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसमें शामिल होंगे। भूमि पूजन समारोह तीन दिवसीय है। 5 अगस्त 8 बजे सुबह से अंतिम अनुष्ठान होगा।

राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद मामले पर ऐतिहासिक फैसले के आने के बाद अब राम भक्त मंदिर निर्माण के लिए काफी उत्सुक हैं। ऐसा ही एक भक्त अयोध्या में भी मिला जिसने राम मंदिर के फैसले के साथ ही 51 हजार भगवान राम नाम की ईंट बनवाना शुरू कर दिया।



जानकारी के मुताबिक, राम मंदिर निर्माण की तारीख घोषित होते ही वह 51 हजार अवल दर्जे की ईंटें भगवान राम लला के गर्भ ग्रह की नींव भरने के लिए राम जन्म भूमि में दान करेंगे। भट्टे के मालिक संदीप वर्मा के मुताबिक, उनके मन में इच्छा शक्ति आई कि वह भगवान राम के मंदिर के गर्भ गृह की नींव भरने के लिए 51 हजार ईंटें रामलला को दान करेंगे।

राम मंदिर के लिए मटियारी मिट्टी का प्रयोग

संदीप वर्मा ने बताया कि, जिस स्थान पर राम नाम की ईंटें बन रही हैं उस जगह पर जूते-चप्पल पहनकर जाना वर्जित है। भक्त और भगवान का ताल्लुक सदियों से चला आ रहा है। यह विशेष तरह की मटियारी मिट्टी से बनी ईंटें होंगी। ईंट में शुद्धता का भी पूरा ध्यान रखा गया है। ईंटें पाथने के लिए 16 मजदूर लगे हैं जो रात दिन मेहनत करके 51 हजार ईंटों को तैयार करेंगे।

9 नवंबर को आया था फैसला

गौरतलब है कि, 9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट ने देश के सबसे बड़े फैसले में अयोध्या की विवादित जमीन पर रामलला विराजमान का हक माना है। जबकि मुस्लिम पक्ष को अयोध्या में ही 5 एकड़ जमीन देने का आदेश दिया गया है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली 5 जजों की विशेष बेंच ने सर्वसम्मति से यह फैसला सुनाया है।

Related posts