फिल्‍मी तरीके से चोरों ने हीरा खदान से उड़ाए 5 लाख के हीरे, श्‍मशान घाट पर धराए

चैतन्य भारत न्यूज

धमतरी. छत्तीसगढ़ के धमतरी में हीरे की खदान से लाखों के हीरे चुराकर भागे चोरों को चोरी करते समय इस बात का जरा भी अंदाजा नहीं था कि उनकी कड़ी मेहनत पर पुलिस जल्द ही पानी फेर देगी। दो चोरों ने फिल्मी स्टाइल में खदान से हीरे तो चुरा लिए लेकिन जब वे उन हीरों को बेचने के लिए इधर-उधर भटक रहे थे तो पुलिस ने उन्हें दबोच लिया।

5 लाख रुपए के हीरे चुराए

यह मामला गरियाबंद जिले से सामने आया है। यहां देवभोग खदान से दो चोरों ने फिल्मी स्टाइल में 41 हीरे चुराए। इन हीरों की कीमत करीब 5 लाख रुपए है। गरियाबंद के देवभोग खदान से हीरे की चोरी कर तस्करी किए जाने की सूचना पुलिस को मिली थी। इस बीच हीरा तस्करों के बारे में सूचना मिली। इस पर एसडीओपी नगरी के नेतृत्व में टीआई एनएस ठाकुर ने नगरी सांकरा मोड़ में मुक्तिधाम के पास पहुंचकर नाकाबंदी कर दी।

पुलिस हिरासत में दोनों आरोपी

मंगलवार सुबह एक बाइक नगरी सांकरा मोड़ में आता पुलिस को दिखाई दिया। पुलिस के मुताबिक, बाइक में दो युवक सवार थे। पूछताछ के दौरान दोनों ने अपना नाम गोपीचंद मरकाम और बलिराम मेश्राम बताया। तलाशी लेने पर उनके कब्जे से कुल 41 नग हीरा बरामद हुआ। आरोपी हीरे को ग्राहकों के पास खपाने के लिए लेकर आ रहे थे। पुलिस ने उन्हें नगरी सांकरा मोड़ स्थित मुक्तिधाम (श्मशान घाट) पर दबोच लिया। फिलहाल पुलिस ने दोनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया। आरोपियों को गिरफ्तार कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

लंबे अरसे से हो रही है तस्करी

देवभोग हालांकि गरियाबंद जिले में है, लेकिन धमतरी के नगरी और ओडिशा की सीमा से भी लगा हुआ है। नक्सली प्रभावित इलाका और घने जंगलों के कारण अक्सर तस्कर धमतरी के रास्ते ही अपने काम को अंजाम देने की फिराक में रहते हैं। इससे पहले भी धमतरी पुलिस ने कई बार हीरा तस्करों को पकड़ा है। लेकिन आज तक इस काले कारोबार के सरगना तक पुलिस नहीं पहुंच सकी है। फिलहाल इस मामले में पुलिस ने तलाश शुरू कर दी है।

Related posts