चीन में नए साल से पहले तलाक लेने की मच रही होड़, दफ्तरों में उमड़ी भीड़, जानें क्या है मामला

talak

चैतन्य भारत न्यूज

चीन से एक अजब मामला सामने आ रहा है। जानकारी के मुताबिक, यहां तलाक चाहने वाले जोड़े इन दिनों जल्द ये प्रक्रिया पूरी कराने के लिए भाग- दौड़ कर रहे हैं। सभी की यही कोशिश है कि 31 दिसंबर तक उनका तलाक हो जाए। आमतौर पर रोजाना 20 दंपती तलाक के लिए पहुंचते थे, लेकिन अब 40 से 50 आने लगे हैं। आइए आपको बताते हैं इसके पीछे की वजह।

दरअसल, चीन में एक जनवरी से नागरिक संहिता लागू हो जाएगी। ऐसे में जनता में आम धारणा यह बन गई है कि चीन में आने वाले साल से तलाक लेना बेहद मुश्किल हो जाएगा। इसलिए तलाक लेने के लिए होड़ मची हुई है। बता दें नागरिक संहिता लागू इसी साल मई में चीन की संसद ने मंजूरी दी थी। बढ़ते तलाक के मामलों को देखते हुए इसमें नया नियम जोड़ा गया है।

पहले आसान थी प्रक्रिया

दरअसल चीन में इससे पहले तलाक पाने की प्रकिया बहुत आसान थी। आवेदन करने के दो दिनों के भीतर स्थानीय प्रशासन तलाक पर मुहर लगा देता था। इससे हिंसा की शिकार महिलाओं के पास शादी से बाहर निकलने का एक विकल्प होता है लेकिन नए नियमों के मुताबिक, अब अगले साल से आवेदक दंपतियों को एक महीने का कूल-ऑफ पीरियड बिताना होगा। इस बीच पति-पत्नी में से किसी एक का मन बदलता है तो आवेदन रद्द कर दिया जाएगा। इस नियम से लोगों में नाराजगी भी है। उनका मानना है कि इससे लोगों की तलाक लेने की आजादी खत्म होगी।

दफ्तर के बाहर लग रही लोगों की भीड़ 

चीन की एक वेबसाइट के अनुसार इन दिनों चीन के शहरों में तलाक की प्रकिया पूरी कराने वाले दफ्तर के बाहर लोगों की संख्या दोगुनी हो गई हैं। उसके प्रमुख प्रांत ग्वांगझू और शेंनझेन में अपॉइंटमेंट के सारे स्लॉट भर चुके हैं।

Related posts