बैंक या वॉलेट से जुड़ी शिकायत सोशल मीडिया पर कभी ना करें, ठग रखते हैं नजर, ऐसे बचें साइबर क्राइम से

cyber attack

चैतन्य भारत न्यूज

इन दिनों हजारों लोगों के साथ धोखाधड़ी हो रही है। रोजाना फ्रॉड कॉल्स आते हैं जिनका लोग शिकार भी होते हैं। अब पुलिस ने भी जनता को इसे लेकर सतर्क किया है और अपनी शिकायत फेसबुक और ट्विटर के माध्यम से करने से भी मना कर दिया है।

दरअसल यदि आप अपनी शिकायत को सोशल मीडिया के माध्यम से दर्ज कराते हैं तो आप धोखाधड़ी का शिकार हो सकते हैं, तो यह आपके लिए खतरनाक है, कस्टमर केयर एग्जीक्यूटिव आपकी व्यक्तिगत जानकारी को बाहर ला सकता है। ठग आपकी ऐसी सभी गतिविधियों पर नजर रखते हैं। आप कभी भी अपना मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, पता सोशल मीडिया पर शेयर न करें। ऐसा करने से आपके पैसे भी गायब हो सकते हैं। दिल्ली पुलिस साइबर क्राइम ने इसकी जानकारी दी है और लोगों ने सतर्क किया है।

पुलिस साइबर क्राइम का कहना है कि, कभी भी आप सोशल मीडिया पर शिकायत करने के बजाय हमेशा कंपनी का ऑफिशियल ईमेल आईडी का ही इस्तेमाल करें। आपके साथ अगर ठगी हो जाती है तो आप आरबीआई लोकपाल के मोबाइल नंबर- 14440 पर मिस्ड कॉल देकर भी शिकायत कर सकते हैं।

ऐसे बचें साइबर ठगी से

  • सोशल अकाउंट्स पर अपना व्यक्तिगत विवरण जैसे घर का पता, फोन नंबर, जन्म तिथि और जन्म स्थान साझा न करें।
  • अल्फा-न्यूमेरिक सिंबल और स्पेशल कैरेक्टर के साथ मजबूत पासवर्ड बनाएं। पासवर्ड किसी से शेयर न करें।
  • लुभावने विज्ञापनों पर एकाएक विश्वास न करें। वह आपकी व्यक्तिगत जानकारी तक पहुंचने के लिए फर्जी साइट हो सकती है।
  • किसी अनजान लिंक को क्लिक न करें और अनावश्यक कोई एप डाउनलोड न करें।
  • अनजान लोगों से वीडियो कॉल न करें।
  • अनजान लोगों की फ्रेंड रिक्वेस्ट स्वीकार न करें।
  • प्रोफाइल लॉक लगाकर रखें व मोबाइल नंबर अनसीन रखें।

इस तरह वापस हो सकते हैं खाते से निकले रुपये

यदि खाते से बिना कोई सूचना धनराशि निकल जाती है तो तत्काल बैंक को लिखित रूप में सूचित करें और सूचना देने की प्राप्ति रसीद अपने पास अवश्य रखें।
खाते से पैसा निकल जाने की दशा में बैंक को सूचना अतिशीघ्र दें। तीन दिन के अंदर सूचना देने पर निकाली गई रकम लौटाने के लिए बैंक पूर्णता जिम्मेदार होता है।

Related posts