विटामिन-C के डोज से ठीक हो रहे कोरोना के मरीज! चीन के बाद अमेरिका के डॉक्टरों ने अपनाया इलाज का यह तरीका

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. पूरी दुनिया इस समय कोरोना जैसे गंभीर जानलेवा वायरस से लड़ रही है। इस वायरस की चपेट में आकर अब तक 24 हजार से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है और करीब 5 लाख लोग इससे संक्रमित हैं। कोरोना वायरस का अब तक कोई इलाज नहीं मिला है। दुनिया का हर देश इस वायरस का इलाज ढूंढने में जुटा हुआ है और कई तरह के प्रयोग किए जा रहे हैं। ऐसे में अमेरिका अपने कोरोना पीड़ित मरीजों को विटामिन-सी की भारी मात्रा में खुराक दे रहा है। इसके सकरात्मक परिणाम भी सामने आए।

बता दें चीन के डॉक्टरों ने भी कोरोना मरीजों का इलाज करने में खासा इस्तेमाल किया था। इसके परिणाम भी अच्छे आए थे। बता दें विटामिन-सी शरीर का इम्यून सिस्टम मजबूत करता है। इस नए परीक्षण को लेकर लॉन्ग आइलैंड में नॉर्थवेल हेल्थ सुविधाओं से जुड़े एक पल्मोनोलॉजिस्ट और क्रिटिकल-केयर विशेषज्ञ डॉ एंड्रयू जी वेबर ने बताया कि, कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों को 1,500 मिलीग्राम विटामिन-सी दिया गया था। इसके बाद दिन में 3-4 बार और विटामिन-सी की खुराक शरीर में पहुंचाई जाती है।

डॉ. वेबर ने कहा कि, इस प्रयोग के परिणाम चीन के शंघाई में कोरोनो वायरस से पीड़ित लोगों के लिए किए गए प्रायोगिक उपचारों पर आधारित है। उन्होंने बताया कि, ‘जिन रोगियों को विटामिन सी दिया गया, वे उन लोगों की तुलना में काफी बेहतर थे जिन्हें विटामिन सी नहीं दिया गया था।’

बता दें कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों को जो दवा की खुराक दी जा रही है वह विटामिन-सी के दैनिक अनुशंसित मात्रा से 16 गुना ज्यादा है। जानकारी के मुताबिक, अमेरिका में वयस्क पुरुषों को 90 मिलीग्राम और वयस्क महिलाओं को 75 मिलीग्राम रोजाना विटामिन सी की जरूरत होती है।

डॉ. वेबर ने बताया कि, ‘ज्यादा मात्रा में विटामिन-सी का डोज कोरोना वायरस से लड़ने में मददगार होता है, लेकिन इसे उजागर नहीं किया जाता है क्योंकि अभी यह दवा नहीं है।’ मरीजों को विटामिन-सी के साथ मलेरिया की दवा हाइड्राक्सीक्लोरोक्वीन और एंटीबायोटिक एजिथ्रोमाइसीन भी दी जा रही है। इसके अलावा खून को पतला करने की भी दवाएं दी जा रही हैं।

डॉ. वेबर के मुताबिक, जब कोरोना संक्रमण का ज्यादा प्रकोप होता है तो शरीर में सेप्सिस बन जाता है। यह एकदम से शरीर में विटामिन-सी कि कमी कर देता और फिर प्रतिरोधक क्षमता बहुत क्षीण हो जाती है। इसे ठीक करने के लिए ही विटामिन-सी भरपूर मात्रा में मरीज को दिया जाता है।

बढ़ गए ओरंज जूस के दाम

जबसे विटामिन-सी को कोरोना वायरस के इलाज में कारगार पाया गया है, तब से ही दुनियाभर में ओरंज जूस की मांग बढ़ गई है। ऐसे में जूस के दाम में भी बढ़ोतरी हो गई है। डॉक्टरों का कहना है कि, ओरंज जूस के सेवन से बीमारी की चपेट में आने से भी बचा जा सकता है।

ये भी पढ़े…

कोरोना का खौफ: महिला ने छींका, तो दुकानदार ने डर के मारे फेंक दिया 26 लाख का खाने का सामान

 कोरोना वायरस से जंग लड़ रहे गरीब वर्ग को बीजेपी बांटेगी ‘मोदी किट’, जानें इसमें क्या-क्या है

प्लास्टिक और स्टील की चीजों पर कोरोना वायरस लंबे समय तक रहता है जिंदा: अध्ययन

कोरोना वायरस: इंदौर में गलियों-मोहल्लों में घूमकर जानकारी देगा, तो जयपुर में कोरोना मरीजों को दवा और भोजन देगा रोबोट

Related posts