गर्भवती डॉगी ने जान पर खेलकर बचाई चार लोगों की जान, खुद आग में झुलसी

चैतन्य भारत न्यूज

कुत्ते को इंसानों का सबसे वफादार जानवर और दोस्त कहा जाता है और ये एक बार फिर साबित हो गया। रूस के एक अस्पताल में आग लग जाने के बाद जान पर खेलकर एक गर्भवती कुत्ते ने वहां फंसे 4 मरीजों को बाहर निकालने में मदद की। इस दौरान वो खुद कई जगह से जल गई।

रूस के लेनिनग्राद क्षेत्र में एक धर्मशाला में आग लगने के बाद इस डॉगी ने चार बुजुर्ग मरीजों को बचाने में मदद की थी। मटिल्डा नाम के कुत्ते ने अपने मालिक को आग लगने के बारे में सचेत करने के लिए भौंक दिया जिसके बाद वह जलती हुई इमारत में भाग गया। फिर वह चार बुजुर्गों को सतर्क करने के लिए जोर से भौंकती रही। भौंकने की वजह से फायर ब्रिगेड को जलती हुई लकड़ी के नीचे बुजुर्गों के फंसे होने की जानकारी मिली। जिस इमारत में आग लगी थी उससे बुजुर्गों को निकालकर एंबुलेंस से अस्पताल पहुंचाया गया।

इसके बाद मरीज के वहां से निकाले जाने के बाद धुएं के कारण कुतिया वहां बेहोश हो गई। गलती से फायर ब्रिगेड की टीम उसे वहीं छोड़कर चली आई। जलती हुई लकड़ी के टुकड़े से वो भी गंभीर रूप से झुलस गई। इसके बाद लोगों को उसका ख्याल आया जिसके बाद उसे झुलसी अवस्था में वहां से निकाला गया और जानवरों के अस्पताल में उसका इलाज किया गया। अब वो पहले से बेहतर है और उसके स्किन के इलाज के लिए फंड जुटाया जा रहा है।

Related posts