केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने बताया कब तक भारत में आएगी कोरोना वैक्सीन, सरकार ने तय किया यह टारगेट

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस की वैक्सीन कब आएगी? इस बात का सभी को इंतजार है. आज इसका जवाब केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने दिए हैं। अपने साप्‍ताहिक कार्यक्रम ‘संडे संवाद’ में उन्‍होंने बताया क‍ि सरकार हर एक नागरिक को वैक्‍सीन मुहैया कराने की तैयारियों में लगी है। इसके लिए एक उच्‍चस्‍तरीय समिति बनाई गई है। सरकार का लक्ष्‍य है कि जुलाई 2021 तक 20-25 करोड़ भारतीयों को कोविड-19 का टीका लग जाए। सरकार 40 से 50 करोड़ डोज हासिल और इस्‍तेमाल करने की योजना बना रही है।

वैक्‍सीन देने के क्‍या हैं इंतजाम?

हर्षवर्धन ने कहा कि, ‘वैक्‍सीन तैयार होने के बाद, टीकाकरण के लिए प्‍लान बन रहा है। हेल्‍थ मिनिस्‍ट्री एक फॉर्म तैयार कर रही है। इसमें राज्‍य प्राथमिकता वाले समूहों की जानकारी भरेंगे। इन लोगों को पहले वैक्‍सीन मिलेगी। वैक्‍सीन खासतौर पर कोविड-19 के मैनेजमेंट में लगे हेल्‍थ वर्कर्स को पहले मिलेगी। इसमें सरकारी और निजी अस्‍पतालों के डॉक्‍टर्स, नर्सेज, पैरामेडिक्‍स, स्‍टाफ, आशा वर्कर्स, सफाई कर्मचारी शामिल होंगे। अक्‍टूबर तक यह कवायद पूरी होने की उम्‍मीद है। राज्‍यों से कोल्‍ड चेन के अलावा वैक्‍सीन स्‍टोरेज और डिस्‍ट्रीब्‍यूशन के कई पहलुओं पर भी डेटा मांगा गया है।’

डबल डोज वैक्‍सीन का फायदा बताया

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा कि, ‘सरकार कोविड-19 के इम्‍युनिटी डेटा पर भी नजर रख रही है। महामारी को काबू करने के लिए अच्‍छा होगा कि सिंगल डोज वैक्‍सीन मिले।’ बता दें सिंगल डोज से जितनी इम्‍युनिटी का लेवल चाहिए होता है, वह कई बार नहीं मिलता। आमतौर पर वैक्‍सीन की दो डोज से पर्याप्‍त इम्‍युनिटी हासिल होती है।

Related posts