AIIMS निदेशक डॉ. गुलेरिया ने कहा- बाजार में साल के अंत तक आ सकता है कोरोना का टीका

चैतन्य भारत न्यूज

देशभर में कोरोना वैक्सीन का टीकाकरण अभियान जारी है। स्वास्थ्यकर्मियों को वैक्सीन का दूसरा डोज देने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। बुधवार को एम्स निदेशक रणदीप गुलेरिया ने कोरोना की दूसरी खुराक ली। इस दौरान रणदीप गुलेरिया ने कोरोना वैक्सीन के खुले बाजार में आने को लेकर एक बड़ी जानकारी दी।


वैक्सीन की दूसरी खुराक लेने के बाद रणदीप गुलेरिया ने बताया कि, ‘कोरोना का टीका इस साल के अंत तक बाजार में आ सकता है। वैक्सीन खुले बाजार में तभी उपलब्ध होगी जब प्राइम टारगेट को पूरा कर लिया जाएगा और आपूर्ति व मांग में समानता होगी। उम्मीद है कि 2021 के अंत या उससे पहले वैक्सीन बाजार में आने की संभावना है।’

वैक्सीन से घबराने की जरूरत नहीं है

डॉ. गुलेरिया ने कहा, ‘मैं सब से कहना चाहता हूं कि वैक्सीन से न घबराएं और टीका लगवाएं। हमारी कोरोना संक्रमण की स्थिति बहुत अच्छी है। लेकिन इसे हमें ठीक बनाए रखना होगा। उसके लिए वैक्सीन लगाना जरूरी है।’

एक दिन में हजार से ज्यादा लोगों को लगा टीका

बता दें कि देश में वैक्सीन का टीकाकरण अभियान 16 जनवरी को शुरू हुआ था और एक महीना पूरा होने से पहले ही 80 लाख फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगाया जा चुका था। अभी कुछ दिन पहले ही वैक्सीन की दूसरी डोज देना शुरू किया गया है। 16 फरवरी को एक दिन में 15 हजार से ज्यादा लोगों ने टीका लगवाया। इस दौरान छह लोगों में टीका लगने के बाद दुष्प्रभाव भी मिले।

28 दिन बाद लेनी होती है दूसरी डोज

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, दूसरी डोज अभी तक केवल 37.5% ऐसे स्वास्थ्य कर्मियों को लग सकी है जिनको पहली डोज लिए 28 दिन हो गए हैं। आपको बता दें कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक कोविड वैक्सीन की पहली डोज के 28 दिन बाद दूसरी डोज लेनी होती है। इस दूसरी डोज के 14 दिन बाद से ही वैक्सीन अपना प्रभाव दिखाना शुरू करती है।

Related posts