भारत में दो कोरोना वैक्सीन को एक साथ मिली मंजूरी, कोविशील्ड और कोवैक्सीन के इस्तेमाल पर DCGI की मुहर

चैतन्य भारत न्यूज

देश में कोरोना वैक्सीन को लेकर ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने बड़ा ऐलान कर दिया है। DCGI ने सीरम इंस्टीट्यूट की वैक्सीन कोविशील्ड और भारत बायोटेक की वैक्सीन कोवैक्सीन को आपातकाल इस्तेमाल की अंतिम मंजूरी दे दी है। अब ये वैक्सीन देश में आम लोगों को लगाए जा सकेंगे। ऐसे में एक साथ दो टीकों को मंजूरी देने वाला भारत दुनिया का पहला देश बन गया है। ये वैक्सीन देश के नागरिकों को दी जाएगी।

बता दें इससे पहले SEC ने 1 जनवरी को कोविशील्ड और 2 जनवरी कोवैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की अनुमति देने की सिफारिश DCGI से की थी। DCGI ने इस पर आज मुहर लगा दी है। DCGI के निदेशक वीजी सोमानी ने कहा कि, ‘दोनों ही वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित हैं और इसका इस्तेमाल इमरजेंसी की स्थिति में किया जा सकेगा।’ DCGI के मुताबिक दोनों ही वैक्सीन की दो दो डोज इंजेक्शन के रूप में दी जाएगी।

कोविशील्ड और कोवैैक्सीन के दोनों वैक्सीन की दो-दो डोज मरीजों को दी जाएंगी। इन दोनों वैक्सीन को 2-8 डिग्री तापमान पर सुरक्षित रखा जा सकेगा। डीसीजीआई के मुताबिक सीरम इंस्टीट्यूट की वैक्सीन की ओवरऑल क्षमता 70.42 फीसदी थी।भारत बायोटेक की वैक्सीन के बारे में DCGI ने कहा कि, भारत बायोटेक की वैक्सीन ने फेज थ्री में 25800 लोगों पर ट्रायल शुरू किया और देश में अबतक 22,500 लोगों को ये वैक्सीन लगाया जा चुका है। DCGI के मुताबिक अबतक उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक ये वैक्सीन सुरक्षित है और वैक्सीन लगाने वाले को जबर्दस्त सुरक्षा प्रदान करता है।

सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला कोराना वैक्सीन को मंजूरी मिलने पर खुशी जाहिर की है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, ‘सभी को नया साल मुबारक हो! सभी जोखिम जो सिरम इंस्टीट्यूट ने वैक्सीन को स्टॉक करने के लिए उठाए थे, उसका आखिकार बेहत परिणाम सामने आया है। भारत का पहला कोविड 19 वैक्सीन अगले हफ्ते तक आपके सामने होगा। यह पूरी तरह से सुरक्षित और प्रभावी है।’

Related posts