दशहरे पर ऐसे करें प्रभु राम की आराधना, जीवन में हमेशा होगी विजय

dussehra,dussehra ka mahatav,sriram

चैतन्य भारत न्यूज

नवरात्रि के बाद की तिथि को दशहरा के रूप में मनाया जाता है। दशहरे के दिन ही भगवान राम ने रावण पर विजय प्राप्त की थी। दशहरे के दिन अस्त्र शस्त्रों की पूजा की जाती है और विजय पर्व मनाया जाता है। आइए जानते हैं दशहरे से जुड़ी कुछ प्रमुख बातें।



dussehra,dussehra ka mahatav,sriram

दशहरे पर इनकी करें पूजा

  • दशहरे पर महिषासुर मर्दिनी मां दुर्गा और भगवान राम की पूजा करनी चाहिए।
  • मान्यता है कि इस दिन भगवान राम की पूजा करने से सम्पूर्ण बाधाओं का नाश होता है और जीवन में विजय प्राप्त होती है।
  • आज के दिन अस्त्र शस्त्र की पूजा करने से उस अस्त्र-शस्त्र से नुकसान नहीं होता है।
  • कहा जाता है कि नवग्रहों को नियंत्रित करने के लिए भी दशहरे की पूजा अदभुत होती है।
  • पूजा के दौरान देवी और श्री राम के मंत्रों का जाप करें।
  • दशहरे के दिन शमी का पौधा लगाना भी शुभ माना जाता है।

dussehra,dussehra ka mahatav,sriram

पूजा का मंत्र

श्रियं रामं , जयं रामं, द्विर्जयम राममीरयेत।

त्रयोदशाक्षरो मन्त्रः, सर्वसिद्धिकरः स्थितः।।

ये भी पढ़े…

बेहद खास है नवरात्रि का अंतिम दिन, जानिए महानवमी का महत्व और पूजा का शुभ मुहूर्त

नवरात्रि : आज महिलाएं खासतौर से करें सिद्धियों की देवी मां शैलपुत्री की पूजा, इस मंत्र के जाप से होगी पूजा सफल

दुर्गा विसर्जन के दौरान इन बातों का रखें विशेष ध्यान, जानिए शुभ मुहूर्त

Related posts