दुती चंद ने रचा इतिहास, बनीं 100 मीटर रेस में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला

चैतन्य भारत न्यूज

भारत की शीर्ष महिला धावक दुती चंद ने इटली में चल रहे वर्ल्ड यूनिवर्सिटी गेम्स में इतिहास रच दिया है। उन्होंने 30वें समर यूनिवर्सिटी गेम्स में 100 मीटर कॉम्पिटिशन का गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया है। इस दौरान दुति ने 11.32 सेकेंड का समय निकाला। सेमीफाइनल हीट में मंगलवार को दुति ने 11.41 सेकेंड का समय निकाला और फाइनल के लिए क्वालिफाई किया था। खास बात यह है कि, खेल के इस संस्करण में भारत के लिए यह पहला स्वर्ण पदक है।

बात दें इससे पहले यूनिवर्सिटी गेम्स के इतिहास में किसी भी भारतीय खिलाड़ी ने 100 मीटर स्पर्धा के फाइनल में जगह नहीं बनाई थी। दुति अपनी इस जीत से बहुत खुश हैं। उन्होंने ट्वीटर के माध्यम से कहा कि, ‘वर्षों की मेहनत और आपकी दुआओं के कारण मैंने एक बार फिर नेपल्स में हुए वर्ल्ड यूनिवर्सिटी गेम्स में 11.32 सेकेंड का समय निकालते हुए 100 मीटर स्पर्धा का स्वर्ण पदक अपने नाम किया।’

इसके अलावा दुति ने स्वर्ण पदक के साथ अपनी एक तस्वीर भी शेयर की। इस तस्वीर के साथ उन्होंने कैप्शन दिया कि, ‘इसे देखो, मुझे नीचे खींचने की कोशिश करेगा और मैं मजबूती से वापसी करूंगी।’ गौरतलब है कि, दुति एशियाई खेलों में भी दो रजत पदक अपने नाम कर चुकी हैं। दुति की इस जीत से उनके माता-पिता बेहद खुश हैं और उन्होंने पूरे गांव में मिठाई बांटी।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी दुती को ट्वीटर पर बधाई देते हुए कहा कि, ‘यूनिवर्सिटी खेलों में 100 मीटर फर्राटा जीतने पर दुती को बधाई । यह भारत का इन खेलों में पहला स्वर्ण है और हम काफी गौरवान्वित हैं। इस प्रदर्शन को ओलंपिक में बरकरार रखें।’

इसके अलावा खेलमंत्री कीरन रीजीजू ने भी दुति को बधाई दी। उन्होंने लिखा कि, ‘मैं बचपन से इन खेलों में स्वर्ण का इंतजार कर रहा हूं। आखिरकार भारत को स्वर्ण पदक मिला। दुती चंद को विश्व यूनिवर्सिटी खेलों में स्वर्ण जीतने पर बधाई।’ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी दुति को जीत की बधाई दी।

Related posts