बजट सत्र 2020: राष्ट्रपति कोविंद ने कहा- ‘CAA लागू कर सरकार ने पूरा किया बापू का सपना’, विपक्ष ने किया हंगामा

ramnath kovind

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. अर्थव्यवस्था के बिगड़ते हालात के बीच आज संसद का बजट सत्र शुरू हो रहा है। बता दें मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का 2020-21 का बजट 1 फरवरी को यानी कल पेश किया जाएगा। इसे वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पेश करेंगी। शुक्रवार को बजट सत्र की शुरुआत राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अपने अभिभाषण से की। राष्ट्रपति ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों के दौरान हुई हिंसा को देश को कमजोर करने का प्रयास करार दिया। इसके बाद विपक्षी नेताओं ने संसद में हंगामा किया और जमकर नारेबाजी की।



रामनाथ कोविंद ने कहा कि, ‘मेरी सरकार का स्पष्ट मत है कि पारस्परिक चर्चा-परिचर्चा तथा वाद-विवाद लोकतंत्र को और सशक्त बनाते हैं, वहीं विरोध के नाम पर किसी भी तरह की हिंसा, समाज और देश को कमजोर करती है।’ उन्होंने कहा, ‘विभाजन के समय भारत के लोगों को काफी परेशानी हुई। महात्मा गांधी ने कहा था कि जो हिंदू पाकिस्तान में नहीं रहना चाहते वो भारत आ सकते हैं, मेरी सरकार ने नागरिकता कानून लागू कर बापू की इच्छा पूरी की।’

उन्होंने कहा, ‘मैं पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर हो रहे अत्याचार की निंदा करते हुए, विश्व समुदाय से इसका संज्ञान लेने और इस दिशा में आवश्यक कदम उठाने का भी आग्रह करता हूं।’

अपने संबोधन में राष्ट्रपति ने सरकार के द्वारा अल्पसंख्यक समुदाय के लिए उठाए गए कदमों का जिक्र किया और कहा, ‘अल्पसंख्यक वर्ग के सामाजिक और शैक्षणिक विकास के लिए काम कर रही है। मुस्लिम छात्रों के लिए स्कॉलरशिप दी गई है, सऊदी अरब ने भी हज की लिमिट को बढ़ाया गया है।’

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि, ‘सरकार की ओर से नॉर्थ ईस्ट में विकास की रफ्तार को बढ़ाया गया, वहां से कनेक्टविटी बढ़ाई गई है। लोगों का जीवन आसान बनाने की कोशिश हुई है, बोडो की समस्या के लिए सरकार ने कदम उठाए हैं।’

राष्ट्रपति ने कहा, ‘किसानों के लिए शुरू किए गए ऑनलाइन राष्ट्रीय बाज़ार यानि e-NAM का प्रभाव भी अब दिखाई देने लगा है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत औसतन प्रतिवर्ष साढ़े 5 करोड़ से ज्यादा किसान बहुत कम प्रीमियम पर अपनी फसलों का बीमा करा रहे हैं। इस योजना के तहत बीते तीन वर्षों में किसानों को लगभग 57 हजार करोड़ रुपए की क्लेम राशि का भुगतान किया गया है।’

राष्ट्रपति बोले, ‘देश के 50 करोड़ से अधिक पशुधन को स्वस्थ रखने का एक बहुत बड़ा अभियान चलाया जा रहा है। नेशनल एनीमल डिज़ीज कंट्रोल प्रोग्राम के तहत पशुओं के Foot and Mouth Disease से बचाव के लिए उनके टीकाकरण व अन्य उपायों पर 13 हजार करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे हैं।’ उन्होंने आगे कहा कि, ‘हमारा देश हमारे अन्नदाता किसानों का ऋणी है जिनके परिश्रम से हम खाद्यान्न में आत्मनिर्भर हैं। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत 8 करोड़ से ज्यादा किसान-परिवारों के बैंक खाते में 43 हज़ार करोड़ रुपए से अधिक राशि जमा कराई जा चुकी है।’

राष्ट्रपति ने कहा, ‘मेरी सरकार, महिलाओं की सुरक्षा को लेकर संवेदनशीलता के साथ काम कर रही । मेरी सरकार, महिला स्वास्थ्य के लिए विशेष प्रयास कर रही है।’ राष्ट्रपति नेा आगे कहा कि, ‘इसी वर्ष देश में 75 नए मेडिकल कॉलेज बनाने की स्वीकृति दी गई है, जिससे देश में मेडिकल की लगभग 16 हजार MBBS और 4 हजार से अधिक PG सीटों की बढ़ोतरी होगी।’

राष्ट्रपति ने बताया कि, ‘प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत अब तक 75 लाख गरीब अपना मुफ्त इलाज करा चुके हैं। मेरी सरकार द्वारा लिए गए फैसलों की वजह से, गरीब और मध्यम वर्ग का इलाज का खर्च काफी कम हुआ है।’

Related posts