व्हाट्सएप पर उद्धव ठाकरे का कार्टून शेयर करने पर शिवसैनिकों ने की रिटायर्ड नेवी अफसर बुरी तरह पिटाई, 14 घंटे के अंदर मिली जमानत

चैतन्य भारत न्यूज

मुंबई. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से जुड़ा एक कार्टून व्हाट्सएप पर फॉरवर्ड करने पर नौसेना के पूर्व अधिकारी पर शिवसैनिकों ने शुक्रवार को जानलेवा हमला किया था। इसके बाद मुंबई पुलिस ने मारपीट करने वाले सभी 6 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया था जिन्हे आज जमानत मिल गई है। सभी आरोपियों को 5 हजार रुपये के मुचलके पर जमानत मिली है। कोरोना महामारी के दिशानिर्देशों को ध्यान में रखते हुए यह जमानत दी गई है।

दरअसल, शुक्रवार को मुंबई पश्चिमी के उपनगर कांदिवली में पूर्व नौसेना अधिकारी मदन शर्मा पर आधा दर्जन से अधिक शिवसैनिकों ने जानलेवा हमला किया था। इस मामले में मुंबई पुलिस ने शिवसेना नेता कमलेश कदम समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया था, जिन्हें समता नगर पुलिस स्टेशन ने जमानत दे दी है। पीड़ित परिवार ने पुलिस के इस तरह जमानत देने पर सवाल खड़े किए हैं।


मदन शर्मा ने बताया कि पहले उन्हें सोशल मीडिया से पोस्ट हाटने की धमकी वाले फोन आए। इसके बाद भी जब उन्होंने पोस्ट को डिलीट नहीं किया तो शुक्रवार की सुबह करीब 11:30 बजे उपनगर कांदिवली के लोखंडवाला कॉम्प्लेक्स इलाके में कुछ शिवसेना कार्यकर्ता पहुंचे और उन्होंने मदन शर्मा की पिटाई कर दी। पिटाई में मदन शर्मा की आंख में गंभीर चोट आ गई, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। इस पूरे मामले पर मदन शर्मा ने कहा कि मैंने पूरी जिंदगी देश के लिए काम किया है। इस तरह की सरकार का अस्तित्व नहीं होना चाहिए।

मदन शर्मा के बेटे सन्नी शर्मा ने कहा कि, ‘इन गिरफ्तारियों से हम संतुष्ट नहीं हैं। हम महाराष्ट्र में सुरक्षित महसूस नहीं कर रहे हैं। महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू किया जाना चाहिए और दोबारा चुनाव होना चाहिए। मेरे पिता पूर्व नौसैनिक हैं लेकिन कायर भीड़ ने उन्हें निशाना बनाया।’ इस बीच, मदन शर्मा के समर्थन में पूर्व सैनिकों के संगठन क्रांति फेडरेशन आया है। फेडरेशन के सदस्यों ने अस्पताल में मदन शर्मा से मुलाकात की और कहा वह इस मसले पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के सामने इस मुद्दे को उठाएंगे।

Related posts