एग्जिट पोल 2019 : एक बार फिर जनता चुन सकती है मोदी सरकार, 2014 जैसी दिख रही लहर

चैतन्य भारत न्यूज

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए सातों चरणों का मतदान रविवार को संपन्न हो गया। 11 अप्रैल से शुरू होने वाला ये महापर्व 19 मई तक चला। इसके बाद एग्जिट पोल्स से एक तस्वीर सामने आ गई है, जिससे ये अंदाजा लगाया जा रहा है कि जनता एक बार फिर नरेंद्र मोदी को अपना प्रतिनिधि चुन सकती है। 2014 की तर्ज पर मध्य प्रदेश, राजस्थान, गोवा, गुजरात, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र में बीजेपी को भारी सीटें मिलने की उम्मीद है।

पश्चिम बंगाल

ममता बनर्जी के गढ़ में इस बार बीजेपी सेंध लगाती दिख रही है। यहां की कुल 42 सीटों में से बीजेपी के पास 19 से 23 और टीएमसी को 19 से 22 सीटें मिलने का अनुमान है। बंगाल में कांग्रेस के पास सिर्फ एक सीट आ सकती है।

असम

असम में कुल 14 सीटों में से एनडीए को 12 से 14 सीटें और कांग्रेस को 2 सीटें मिल सकती हैं।

ओडिशा

एग्जिट पोल के मुताबिक ओडिशा में कुल 21 सीटों में से बीजेपी को 15 से 19, कांग्रेस को 1 और बीजेडी को 2 से 6 सीटें मिल सकती हैं।

झारखंड

यहां कुल 14 सीटों में से एनडीए के खाते में 12 से 14 सीटें आ सकती है। वहीं यूपीए के खाते में 2 सीटें आ सकती है।

उत्तर प्रदेश

योगी के गढ़ में 80 सीटों में से एनडीए को 62 से 68 सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं। वहीं यूपीए को सिर्फ 1 से 2 सीटें मिलती दिख रही हैं। साथ ही महागठबंधन को 10 से 16 सीटें मिलती दिख रही हैं।

बिहार

यहां की कुल 40 सीटों में से एनडीए को 38 से 40 सीटें मिलती दिख रही हैं। वहीं यूपीए के खाते में 0 से 2 सीटें आ सकती हैं।

जम्मू-कश्मीर

यहां की बात करें तो 6 में से 2-3 सीटें बीजेपी के पास जा सकती हैं। वहीं कांग्रेस यहां सिर्फ एक सीट पाती दिख रही है। इसके अलावा नेशनल कॉन्फ्रेंस को भी 2 से 3 सीटें मिल सकती हैं। इस बार यहां पीडीपी का खाता तक खुलता नहीं दिख रहा।

उत्तराखंड

यहां 5 की पांचों सीटें बीजेपी के पास जाती दिख रही हैं। यहां कांग्रेस को एक भी सीट मिलती नहीं दिख रही।

हरियाणा

हरियाणा की 10 सीटों में से बीजेपी को 8 से 10 सीट मिल सकती है। वहीं कांग्रेस यहां पर 2 सीटें अपने नाम कर सकती है।

पंजाब

यहां की 13 में से 3 से 5 सीटें एनडीए के पास जा सकती है। तो वहीं कांग्रेस को 8 से 9 सीटें मिलती दिख रही हैं। इसके अलावा पंजाब में आम आदमी पार्टी को सिर्फ 1 सीट मिल सकती है।

दिल्ली

राजधानी में 7 की 7 सीट पर बीजेपी फिर आ सकती है। यहां बीजेपी को 6 से 7 सीटें, कांग्रेस को सिर्फ 1 सीट मिलने के आसार हैं। इसके अलावा आप गायब हो सकती है।

तमिलनाडु

यहां की 34 से 38 सीटें यूपीए को तो एनडीए को महज 4 सीटें मिलती दिख रही हैं।

तेलंगाना

इस प्रदेश में बीजेपी को 1 से 3 सीटें, कांग्रेस को भी 1 से 3 सीटें टीआरएस को सर्वाधिक 10 से 12 सीटें मिलती दिख रही हैं।

कर्नाटक

कर्नाटक में 28 सीटों में से बीजेपी को 21 से 25 सीटें, यूपीए को 3 से 6 सीटें और अन्य के खाते में 1 सीट जाती दिख रही है।

आंध्र प्रदेश

यहां पर वाईआरएस को सबसे ज्यादा 18 से 20 सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं। वहीं दूसरे नंबर पर 4 से 6 सीटें ही मिलती दिख रही हैं। जेएसपी को एक सीट मिलती दिख रही है।

केरल

यहां की 20 सीटों में एनडीए को 1 तो यूडीएफ को 15 से 16 सीटें मिलती दिख रही हैं। इसके अलावा एलडीएफ को 3 से 5 सीटें मिलती दिख रही हैं।

गुजरात

गुजरात में एक बार फिर पीएम मोदी का जादू दिख सकता है। यहां पर 25 से 26 सीटें मिलती दिख रही हैं। यहां कांग्रेस को सिर्फ 1 सीट आने का अनुमान है।

गोवा

यहां भी दोनों सीटें बीजेपी को जाती दिख रही हैं। यहां भी बीजेपी 2014 जैसा प्रदर्शन करती दिख रही है।

महाराष्ट्र

इस प्रदेश में 48 सीटों में से एनडीए को 38 से 42 सीटें, यूपीए को 6 से 10 सीटें मिलती दिख रही हैं।

राजस्थान

राजस्थान में 25 सीटों में से 23 से 25, वहीं कांग्रेस के पास 0 से 2 सीटें जाती दिख रही हैं।

छत्तीसगढ

इस प्रदेश में 11 सीटों में बीजेपी को 7 से 8 सीटें, कांग्रेस को 3 से 4 सीटें मिलती दिख रही हैं।

मध्य प्रदेश

मध्यप्रदेश में 29 सीटों में से बीजेपी की 26 से 28 और कांग्रेस की 1 से 3 सीटें दिख रही हैं।

Related posts