कोरोना लॉकडाउन: अगर कर रहे हैं ‘Work from home’, तो इस तरह रखें अपनी आंखों का ख्याल

eyes

चैतन्य भारत न्यूज

इस समय पूरा देश लॉकडाउन से गुजर रहा है। सभी को अपने घरों में रहना पड़ रहा है। अब मोबाइल व लैपटॉप पर बिजी होने के साथ-साथ, लंबे समय तक टीवी देखना भी हमारी दिनचर्या में शामिल हो चुका है जिसका सीधा असर आंखों पर पड़ता है। वर्क फ्रॉम होम के कारण भी हमारा ज्यादातर समय स्क्रीन के सामने ही गुजरता है। स्क्रीन के सामने घंटों बैठे रहने से कई बार आंखों से पानी निकलने लगता है, आंखों के आस-पास दर्द होने लगता है। ऐसे में आंखों का खास ख्याल रखना बेहद जरूरी है। हम आपको कुछ ऐसे उपाय बता रहे हैं जिन्हें अपनाकर आप अपनी आंखों को सुरक्षित बनाए रख सकते हैं। आइए जानते हैं उनके बारे में।

थोड़ी-थोड़ी देर में आंखें धोएं

यदि स्क्रीन के सामने बैठे रहने से आपकी आंखें ड्राई होने लगती है तो आप थोड़ी-थोड़ी देर में ठंडे पानी से आंखें धो लें। कुछ लोगों को फूंक से कपड़े को गर्म कर आंख पर सेंक करने से भी राहत महसूस हो सकती है। इसके अलावा आप आंखों की ड्राइनेस हटाने के लिए डॉक्टर से सलाह लेकर आई-ड्रॉप का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

8 घंटे की नींद जरूरी

यदि आप स्क्रीन पर ज्यादा समय बिताते हैं तो आप कम से कम 8 घंटे की नींद पूरी करें। नींद पूरी होने से आपकी आंखों को आराम मिलेगा। कभी भी कम लाइट या लाइट बंद करके टीवी-लैपटॉप-फोन आदि का इस्तेमाल न करें। इससे आंखों पर अधिक तनाव पड़ता है। आंख में दर्द होने पर कुछ सेकंड्स के लिए लगातार पलकें झपकाएं। इससे आंखों को थोड़ा आराम मिल सकता है।

कुछ मिनट्स के लिए ब्रेक लें

काम करते समय या स्क्रीन के सामने अधिक रहते समय कुछ मिनट में ब्रेक लेते रहे। दरअसल आपके शरीर की तरह ही आपकी आंखों को भी आराम की जरूरत होती है। ब्रेक का मतलब है कि आप आंखें बंद रखें और उन्हें आराम दे। ब्रेक का मतलब यह नहीं कि आप लैपटॉप या टीवी छोड़कर फोन का इस्तेमाल शुरू कर दें। ब्रेक के समय कुछ मिनट्स के लिए स्क्रीन से दूर रहें।

हरी सब्जियां ज्यादा खाएं

अपनी डाइट में ज्यादा हरी सब्जियों को शामिल करने से आपकी आंखों की रोशनी अच्छी बनी रह सकती है। उन चीजों का सेवन करें जिनमें विटामिन C और E की अच्छी मात्रा हो। पालक, टिंडे, मछली, बीन्स, गाजर, संतरा, आदि कई ऐसी चीजें हैं जिनके सेवन से आप अपनी आंखों की रोशनी कमजोर होने से बचा सकते हैं। वहीं आमला भी हमारी आंखों की रोशनी के लिए काफी फायदेमंद होता है।

ये भी पढ़े…

रिपोर्ट : 56% लोग बिना मोबाइल के नहीं करते जीवन की कल्पना, एक साल में 1800 घंटे फोन पर बिताते हैं भारतीय लोग

रिपोर्ट: हर 7 में से एक व्यक्ति है स्क्रीन एडिक्शन का शिकार, बढ़ रहा हृदय रोग का खतरा

मोबाइल-लैपटॉप पर बढ़ता जा रहा बच्चों का स्क्रीन टाइम, WHO ने जताई चिंता

Related posts