जीत के वो मंत्र जिनसे अरविंद केजरीवाल ने फिर से जीता दिल्ली का दिल, तीसरी बार मिलेगी सत्ता

delhi vidhan sabha chunav

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. दिल्ली में एक बार फिर अरविंद केजरीवाल का मुख्यमंत्री बनना तय है। मतगणना के ताजा रुझानों और नतीजों में आम आदमी पार्टी करीब 57 सीटों पर आगे हैं। जबकि बीजेपी के खाते में महज दर्जन भर सीटें हैं। आइए जानते हैं अरविंद केजरीवाल की उन खास बातों के बारे में जिसके जरिए उन्हें लगातार तीसरी बार दिल्ली की सत्ता मिलने वाली है।



बिजली, पानी मुफ्त

आप को दिल्ली की यह जीत केवल केजरीवाल के नाम पर ही मिली है। आप ने अपना पूरा प्रचार अभियान दिल्ली सरकार द्वारा किए गए कामों पर ही ​फोकस रखा। इनमें मोहल्ला क्लिनिक, मुफ्त बिजली-पानी, बुजुर्गों के लिए तीर्थ यात्रा और शिक्षा के क्षेत्र में किए गए महत्वपूर्ण बदलाव विशेष तौर पर शामिल है।

पूरे किए घोषणापत्र के वादें

केजरीवाल लोगों को यह बताने में कामयाब हुए कि उन्होंने घोषणापत्र में जो वाद किए थे उन्होंने उसे पूरा कर दिखाया है। इन पांच सालों में केजरीवाल और उनकी सरकार पर कोई भी भ्रष्टाचार के बड़े आरोप नहीं लगे हैं। जो आरोप लगे भी वह साबित नहीं हो पाए। लोगों की सीएम केजरीवाल और उनके ऑफिस तक आसानी से पहुंच ने भी उन्हें पूरे पांचों साल तक लोक​​प्रिय बनाए रखा।

महिलाओं के लिए डीटीसी बस मुफ्त

पिछले साल अक्टूबर में केजरीवाल ने दिल्ली सरकार की ओर से डीटीसी की बसों में महिलाओं को मुफ्त सफर का तोहफा दिया। महिलाओं को डीटीसी की एसी और नॉन एसी बसों में सफर के लिए सिंगल जर्नी ट्रैवल पास जारी किया गया।

सोशल कैंपेन में भी आगे

सोशल कैंपेन में बीजेपी हमेशा आगे रहती है। लेकिन आम आदमी पार्टी इस बार ट्वीटर से लेकर फेसबुक तक हर मोर्चे पर बीजेपी से आगे रही। जिसका फायदा चुनावी नतीजों में दिख रहा है। साथ ही आम आदमी पार्टी ने स्वास्थ्य सेवाओं पर भी काफी काम किया। पार्टी ने मोहल्ला क्लिनिक के तहत गरीबों को घर के करीब चिकित्सा सुविधाएं पहुंचा दीं।

बता दें आम आदमी पार्टी ने अपने चुनाव प्रचार की जिम्मेदारी प्रशांत किशोर की पीआर कंपनी को दी थी। दिल्ली की जीत का श्रेय प्रशांत किशोर को भी दिया जा सकता है। आप को बढ़त मिलने के बाद किशोर ने ट्वीट कर कहा, ‘भारत की आत्मा को बचाने के लिए दिल्ली की जनता का शुक्रिया।’ गौरतलब है कि किशोर को नीतीश कुमार ने हाल ही में पार्टी से निकाल दिया था।

ये भी पढ़े…

दिल्ली चुनाव : ओखला से अमानतुल्ला जीत की ओर, यहां जानिए मुस्लिम बहुल की हर सीट का हाल

दिल्ली चुनाव : शुरुआती रुझानों में AAP को बहुमत, भाजपा के कई दिग्गज पीछे, दफ्तर पहुंचे केजरीवाल

1993 से अबतक दिल्ली में कुल 6 बार हुए चुनाव, देखें कब किसके सिर सजा मुख्यमंत्री का ताज

Related posts