आजतक के वरिष्ठ एंकर रोहित सरदाना का हार्ट अटैक से निधन, कोरोना वायरस से थे संक्रमित

चैतन्य भारत न्यूज

वरिष्ठ पत्रकार और आजतक के ऊर्जावान एंकर रोहित सरदाना नहीं रहे। आज दोपहर उन्होंने हार्ट अटैक के चलते दुनिया को अलविदा कह दिया। उनके निधन की खबर सुनकर मीडिया जगत में शोक की लहर दौड़ गई है। कई बड़ी हस्तियों और पत्रकारों ने ट्वीट कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है। रोहित कोरोना वायरस से भी संक्रमित थे। हार्ट अटैक के बाद उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था, लेकिन बचाया नहीं जा सका।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रोहित सरदाना के निधन पर शोक व्यक्त किया। पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा, ’रोहित सरदाना बेहद जल्दी हमें छोड़कर चले गए। भारत की प्रगति के लिए ऊर्जा से भरपूर थे और भावुक थे, रोहित को कई लोगों द्वारा याद किया जाएगा। रोहित के निधन ने मीडिया जगत में एक बहुत बड़ा शून्य छोड़ दिया है। उनके परिजनों, दोस्तों और चाहने वालों को सांत्वना, ऊं शांति’।


राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी ट्वीट कर रोहित सरदाना के निधन पर दुख व्यक्त किया है। राष्ट्रपति की ओर से ट्वीट किया गया कि लोकप्रिय न्यूज़ एंकर तथा वरिष्ठ पत्रकार रोहित सरदाना के निधन का समाचार अत्यंत दुखद है। उनका असामयिक निधन पत्रकारिता जगत के लिए बहुत बड़ी क्षति है। श्री सरदाना के परिवारजनों व प्रशंसकों को मेरी शोक संवेदनाएं।


उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी ट्वीट कर दुख व्यक्त किया है। यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘वरिष्ठ पत्रकार रोहित सरदाना जी का निधन अत्यंत दुःखद है। वह जनपक्षीय पत्रकारिता के अप्रतिम हस्ताक्षर थे। प्रभु श्री राम से प्रार्थना है कि वह दिवंगत आत्मा को शान्ति व शोकाकुल परिजनों को यह अथाह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करें।’


दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रोहित सरदाना को श्रद्धांजलि दी है। अरविंद केजरीवाल ने अपने संदेश में लिखा कि वरिष्ठ टीवी पत्रकार रोहित सरदाना जी के निधन की दुखद ख़बर स्तब्ध कर देने वाली। ईश्वर उनकी आत्मा को अपने चरणों में स्थान दें और परिवार को ये दुख सहने का साहस दें।


वरिष्ठ पत्रकार सुधीर चौधरी ने ट्वीट किया, ‘अब से थोड़ी पहले जितेंद्र शर्मा का फोन आया। उसने जो कहा सुनकर मेरे हाथ काँपने लगे। हमारे मित्र और सहयोगी रोहित सरदाना की मृत्यु की ख़बर थी। ये वायरस हमारे इतने क़रीब से किसी को उठा ले जाएगा ये कल्पना नहीं की थी। इसके लिए मैं तैयार नहीं था। यह भगवान की नाइंसाफ़ी है… ॐ शान्ति।’

Related posts