16 फरवरी से आपकी गाड़ी पर फास्टैग होना जरूरी, वरना देना होगा डबल चार्ज, यहां से फटाफट खरीदें

fastag

चैतन्य भारत न्यूज

अगर आपने भी अब तक अपने छोटे-बड़े वाहनों पर फास्टैग नहीं लगवाया है तो आपके पास आज रात तक का मौका है। दरअसल 16 फरवरी से फास्टैग अनिवार्य कर दिया गया है। इसलिए फटाफट अपनी गाड़ियों में फास्टैग लगवा लें। परिवहन मंत्रालय के आदेश के मुताबिक टू-व्हीलर को छोड़कर सभी वाहनों में 16 फरवरी से फास्टैग जरूरी होगा। इसके बिना यदि आप नेशनल हाईवे के टोल प्लाजा पर फास्टैग की लेन में वाहन लेकर प्रवेश करते हैं तो आपसे दोगुना टोल या जुर्माना वसूला जाएगा।

क्या है फास्टैग?

फास्टैग एक ऐसा उपकरण होता है जो वाहन के सामने वाले कांच पर लगाया जाता है। इसमें रेडियो फ्रिकवेंसी आईडेंटिफिकेशन लगा होता है। जैसे ही आपकी गाड़ी टोल प्लाजा के पास आ जाती है, तो टोल प्लाजा पर लगा सेंसर आपके वाहन के विंड स्क्रीन में लगे फास्टैग के संपर्क में आते ही, आपके फास्टैग अकाउंट से उस टोल प्लाजा पर लगने वाला शुल्क काट देता है और आप बिना वहां रुके अपना प्लाजा टैक्स का भुगतान कर देते हैं।

कहां से खरीदें FASTag?

  • नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) ने इसके लिए देशभर में 40,000 से ज्यादा सेंटर बनाए हैं, जहां से आप इस जरूरी दस्तावेज दिखाकर FASTag खरीद सकते हैं। जब आप टोल प्लाजा से होकर गुजरेंगे तो उसके किनारे फास्टैग के लिए बूथ बनाए गए हैं।
  • एयरटेल पेमेंट बैंक(Airtel Payment Bank), पेटीएम (Paytm) और अन्य डिजिटल प्लेटफॉर्म से भी इसे खरीदा जा सकता है। पेटीएम और एयरटेल पेमेंट बैंक पर फास्टैग खरीदने के लिए अलग से टैब उपलब्ध कराया गया है। उस टैब पर क्लिक करके आपको अपने वाहन का रजिस्ट्रेशन नंबर डालना है और साथ में रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC) की दोनों साइड की इमेज अपलोड करनी है। उसके बाद आप पेमेंट करके FASTag ऑनलाइन खरीद सकते हैं।
  • उन बैंकों से FASTag खरीद सकते हैं, जो सरकार के राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह (NETC) कार्यक्रम से अधिकृत हैं। इन बैंकों में सिंडिकेट बैंक, एक्सिस बैंक, आईडीएफसी बैंक, एचडीएफसी बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, और इक्विटास बैंक शामिल हैं। कुल 23 बैंकों से आप फास्टैग ले सकते हैं।
  • इसके अलावा रोड ट्रांसपोर्ट ऑफिस के पॉइंट ऑफ सेल से भी फास्टैग ले सकते हैं। नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने फास्टैग की कीमत 100 रुपये तय की है। इसके अलावा 200 रुपये की सिक्योरिटी डिपॉजिट देनी पड़ती है।

फास्टैग लेने के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • वाहन के पंजीकरण प्रमाण पत्र( RC)
  • वाहन मालिक का पासपोर्ट साइज के फोटो
  • वाहन मालिक के केवाईसी दस्तावेज और एड्रेस प्रूफ

फास्टैग कितना उपयोगी

टोल प्लाजाओं पर टोल कलेक्शन सिस्टम से होने वाली परेशानियों का हल निकालने के लिए ‘राष्ट्रीय हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया’ ने भारत में ‘इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन’ (ETC) सिस्टम शुरू किया गया है। इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन सिस्टम या फास्टैग स्कीम भारत में सबसे पहले साल 2014 में शुरू की गई थी। अब इसे पूरे देश के टोल प्लाजा के पर लागू किया जा रहा है। फास्टैग सिस्टम की मदद से आपको टोल प्लाजा में टोल टैक्स देने के दौरान होने वाली परेशानियों से निजात मिल सकेगा। फास्टैग के जरिए आप टोल प्लाजा में बिना रुके अपना टोल प्लाजा टैक्स दे सकेंगे। इसके लिए आपको बस अपने वाहन पर फास्टैग लगाना होगा। आपके प्रीपेड खाते के सक्रिय होते ही फास्टैग अपना काम शुरू कर देगा। जब आपके फास्टैग अकाउंट में राशि खत्म हो जाएगी, तो आपको उसे फिर से रिचार्ज करवाना पड़ेगा।

कैसे करें रिचार्ज

आप क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, आरटीजीएस और नेट बैंकिंग के जरिए अपने फास्टैग अकाउंट को रिचार्ज कर सकते हैं। इसके खाते में कम से कम 100 रुपए और ज्यादा से ज्यादा 100000 रुपए तक का रिचार्ज कराया जा सकता है।

Related posts