पिता ‘मध्यप्रदेश’ तो बेटा ‘भोपाल’, जानिए इनकी दिलचस्प कहानी

madhya pradesh singh,bhopal,singh,bhamori,madhyapradesh

चैतन्य भारत न्यूज 

मध्य प्रदेश भारत का हृदय स्थल है, इसलिए इसका नाम मध्यप्रदेश पड़ा और आज (1 नवंबर) वह अपना 64वां स्थापना दिवस मना रहा है। स्थापना दिवस के इस खास मौके पर आज हम आपको म‍िला रहे हैं एक ऐसे शख्स से जिनका खुद का नाम उस राज्य पर है, ज‍िसमें वह रहते हैं। इतना ही नहीं बल्कि इस शख्स ने अपने बेटे का नाम भी प्रदेश की राजधानी के नाम पर रखा है।



madhya pradesh singh,bhopal,singh,bhamori,madhyapradesh

यह शख्स झाबुआ के शासकीय महाविद्यालय में गेस्ट प्रोफेसर हैं। इनका नाम है मध्यप्रदेश सिंह। मध्यप्रदेश सिंह को यह नाम उनके पिता ने सरकारी अफसरों से मिली एक डांट के बाद दिया था। सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि मध्यप्रदेश सिंह ने अपने तीन महीने के बेटे का नाम भोपाल सिंह रखा।

madhya pradesh singh,bhopal,singh,bhamori,madhyapradesh

मध्य प्रदेश सिंह अमलावर झाबुआ के शहीद चंद्रशेखर आजाद कॉलेज में गेस्ट प्रोफेसर के तौर पर भूगोल पढ़ाते हैं और धार जिले के ग्राम भमोरी के रहने वाले हैं। जब ये समझदार हुए और अपना नाम पहचानने लगे तब शुरू-शुरू में इन्हें अटपटा लगता था, लेकिन अब अच्छा लगता है। जब भी अपना नाम किसी को बताते हैं तो लोगों को विश्वास नहीं होता और इसीलिए ये अपना आधार कार्ड जेब में लेकर ही चलते हैं।

madhya pradesh singh,bhopal,singh,bhamori,madhyapradesh

मध्य प्रदेश सिंह ने अपने नाम की तरह अपने तीन माह के बेटे का नाम भी मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के नाम पर भोपाल सिंह रख दिया है। मध्यप्रदेश सिंह का कहना है कि, उन्होंने बहुत पहले ही सोच लिया था कि अगर बेटा होगा तो उसका नाम भोपाल ही रखेंगे। उनकी एक बेटी भी है जिसका नाम प्रकृति है। मध्य प्रदेश सिंह का मानना है कि उनका नाम ही उनकी विशिष्ट पहचान है।

madhya pradesh singh,bhopal,singh,bhamori,madhyapradesh

वहीं मध्यप्रदेश की पत्नी किरण सिंह का कहना है कि, ‘जब उन्हें पता चला कि उनके होने वाले पति का नाम मध्य प्रदेश सिंह है तो शुरू-शुरू में उन्हें बहुत अटपटा लगा लेकिन बाद में उन्हें भी यह सब अच्छा लगने लगा।’ उन्होंने कहा कि, ‘उनके पति का नाम इतना प्रसिद्ध हो गया कि बड़े-बड़े लोग उनसे मिलने आते हैं। जबकि वह अपने बेटे का नाम भोपाल रखने को लेकर भी खुश हैं।’

ये भी पढ़े…

मध्यप्रदेश 64वां स्थापना दिवस : जानें देश के हृदय मध्यप्रदेश का कैसे हुआ निर्माण

मध्यप्रदेश बना दुनिया का तीसरा सबसे अच्छा पर्यटक स्थल, जानिए कौन है सबसे शीर्ष पर?

ये है मध्यप्रदेश का सबसे खूबसूरत हिल स्टेशन, महाभारत काल से जुड़ी है इसकी आस्था

Related posts