NOTEBOOK REVIEW : कश्मीर की ये प्रेमकहानी कई परिवारों को देगी अहम संदेश

notebook ,film notebook review,notebook rating

टीम चैतन्य भारत

फिल्म : नोटबुक
कलाकार : जहीर इकबाल,प्रनूतन बहल
निर्देशक : नितिन कक्कड़
निर्माता : सलमान खान, मुराद खेतानी, अश्विन वर्दे
मूवी टाइप : रोमांस
अवधि : 1 घंटा 55 मिनट

कहानी : ‘नोटबुक’ फिल्म की कहानी और इसके द्वारा दिया जा रहा संदेश कश्मीर के कुछ परिवारों के लिए है. यह फिल्म बता रही है कि बच्चों के हाथों में किताबें होनी चाहिए न कि बंदूक। इस फिल्म कहानी कश्मीर की एक झील के बीचों बीच बने वूलर पब्लिक स्कूल की है। यहां टीचर कबीर (जहीर इकबाल) कश्मीर के हाउस-बोट स्कूल में पढ़ाने के लिए पहुंचता है। कबीर से पहले यहां एक अन्य टीचर भी थी जिसका नाम था फिरदौस (प्रनूतन बहल)। स्कूल में कबीर को फिरदौस की एक नोटबुक मिलती है। इस नोटबुक में फिरदौस के निजी विचार लिखे हुए थे और कबीर उन सभी विचारों को पढ़ लेता है, जिसके बाद वह फिरदौस से बिना कभी मिले ही उससे प्यार कर बैठता है। अब कबीर फिरदौस से किस तरह मिलकर अपने प्यार का इजहार करता है यह जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी।

notebook reivew,notebook rating

कलाकारों की एक्टिंग : जहीर इकबाल और प्रनूतन बहल दोनों ने ही इस फिल्म के जरिए बॉलीवुड में डेब्यू किया है और दोनों ने ही अच्छी परफॉर्मेंस दी है। लेकिन इन दोनों कलाकारों को साथ में स्क्रीनटाइम काफी कम दिया गया है जिसके कारण दोनों की केमिस्ट्री ज्यादा देखने को नहीं मिल पाई है। प्रनूतन दिग्गज अभिनेत्री नूतन की पोती और अभिनेता मोहनीश बहल की बेटी हैं।

notebook ,notebook rating,notebook review

क्या है फिल्म में खास : फिल्म की पूरी शूटिंग कश्मीर की वादियों में हुई है और इसमें दिखाए गए भव्य नजारे आपका दिल छू लेंगे। इस फिल्म में इमोशन और रोमांस दोनों का ही मिश्रण है और अगर आप रोमांटिक फिल्मों के शौकीन हैं तो इस फिल्म को एक बार जरूर देख सकते हैं। लेकिन अवधि कम होने के कारण कहीं ना कहीं आपको यह फिल्म अधूरी लगेगी।

 

Related posts