भारत की पहली महिला डीजीपी का निधन, टीवी शो ‘उड़ान’ के जरिए लोगों के बीच बन गईं मिसाल

kanchan chaudhary

चैतन्य भारत न्यूज

उत्तराखंड और देश की पहली महिला डीजीपी कंचन चौधरी भट्टाचार्य का सोमवार देर रात निधन हो गया। कंचन लंबे समय से बीमार चल रही थीं। उन्होंने मुंबई के एक अस्पताल में अंतिम सांस ली। उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था अशोक कुमार ने कंचन के निधन की पुष्टि की है।

कंचन को भारत की पहली महिला डीजीपी के तौर पर जाना जाता है। वह बेबाक, ईमानदार, बहादुर, सरल स्वभाव और नेक दिल वाली महिला थीं। साल 1989 में दूरदर्शन पर एक सीरियल शुरू हुआ जिसका नाम ‘उड़ान’ था। यह सीरियल कंचन चौधरी की पुलिस जिंदगी पर आधारित था। इस सीरियल में आईपीएस अधिकारी कल्याणी सिंह की कहानी को दिखाया गया था जो विकट हालात के बीच जूझती लड़ती एक साहसी महिला। इस किरदार को कंचन की छोटी बहन कविता चौधरी ने निभाया था। शो की निर्माता भी कविता ही थीं और इसकी कहानी भी उन्होंने ही लिखी थी। इस सीरियल को खूब पसंद किया गया था।

साल 1973 बैच की पहली महिला आईपीएस अफसर कंचन ने साल 2004 में उस समय इतिहास रचा था जब वह उत्तराखंड की पुलिस महानिदेशक बनीं। करीब 34 साल सेवा देने के बाद 31 अक्टूबर 2007 को कंचन पुलिस महानिदेशक के पद से सेवानिवृत्त हुईं। बता दें कंचन ने राजनीति में भी कदम रखा था। साल 2014 में उन्होंने लोकसभा चुनाव लड़ा था। कंचन ने आम आदमी पार्टी के टिकट पर उत्तराखंड के हरिद्वार से चुनाव लड़ा था। हालांकि, उस चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था।

ये भी पढ़े…

घरेलू हिंसा की शिकार हुई महिलाओं की कहानी और दर्द को बयां करता है ये वीडियो, जरुर देखें

Women Equality Day : भारत में आज भी महिलाओं को पुरुषों के समान अधिकार और आजादी नहीं

VIDEO : योद्धाओं की याद में 2300 राजपूत महिलाओं ने किया तलवार रास गरबा, बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

 

Related posts