छत्तीसगढ़: पूर्व सीएम अजीत जोगी को वेंटिलेटर से दी जा रही सांस, हार्टबीट और ब्लडप्रेशर सामान्य

चैतन्य भारत न्यूज

रायपुर. छत्तीसगढ़ के पूर्व और प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी की हालत अब भी नाजुक बनी हुई है। जोगी की न्यूरोलॉजिकल (मष्तिष्क) की गतिविधियां लगभग न के बराबर हैं। हाल ही में रायुपर के श्री नारायणा अस्पताल ने जोगी का स्वास्थ्य बुलेटिन जारी किया है।

ऑक्सीजन की मांग कम करने के लिए दी जा रही बेहोशी की दवा

अस्पताल द्वारा जारी किए गए बुलेटिन में बताया गया है कि जोगी हार्टबीट, ब्लड प्रेशर और यूरिन आउटपुट फिलहाल नियंत्रित है। लेकिन उनके मष्तिष्क की गतिविधियां लगभग न के बराबर हैं। वह अभी वेंटिलेटर पर ही हैं और उनको वेंटीलेटर के माध्यम से सांस दी जा रही है। हेल्थ बुलेटिन में कहा गया है कि, हाइपोक्सिया (ब्रेन एक्टिविटी न होना) होने की वजह से उन्हें हाइपोथर्मिया (शरीर के तापमान में कमी होना) और मस्तिष्क में ऑक्सीजन की मांग कम करने के लिए बेहोशी की दवा दी जा रही है। इसके बाद उनके मस्तिष्क का रिस्पांस देखा जाएगा। संभवत: दोपहर से दवाइयां कम की जाएंगी।

हाल जानने अस्पताल पहुंचे कई कांग्रेसी नेता

अजीत जोगी का हाल जानने के लिए सोमवार काे विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरण दास महंत, पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह समेत कई कांग्रेसी नेता भी अस्पताल पहुंचे। इस दौरान अजीत जोगी की पत्नी और विधायक डॉ. रेणु जोगी व उनके बेटे अमित जोगी से मुलाकात की और तबीयत के बारे में पूछा।

गले में फंसा इमली का बीज

गौरतलब है कि जोगी शनिवार सुबह अपने बंगले के बगीचे में टहल रहे थे। इस दौरान उन्होंने गंगा इमली खाई, उसका एक बीज उनके गले में जाकर फंस गया था। इसके कुछ देर बाद ही उन्हें दिल का दौरा पड़ गया और फिर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां डॉक्टरों ने उनकी सांस नली से बीज निकाल दिया, लेकिन फिर भी वे आईसीयू में हैंं।

Related posts