MP में वैक्सीनेशन के नाम पर ठगी, वैक्सीन की दूसरी डोज का आया मैसेज, लिंक पर क्लिक किया तो खाते से उड़ गए 3 लाख रुपए

चैतन्य भारत न्यूज

भोपाल. ऑनलाइन ठगी के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। कोई व्हाट्सएप के जरिए तो कोई ईमेल या मैसेज के जरिए ठग रहा है। ऐसे में आपको बेहद सतर्क रहने की जरूरत है। ईमेल या मैसेज पर अनजान लिंक को क्लिक न करें। क्योकि यदि आपने इस लिंक पर क्लिक कर दिया तो आपके मोबाइल या बैंक खाते में सेंध लगाई जा सकती है।

हाल ही में ऐसा ही एक मामला रीवा से सामने आया है जहां पदस्थ स्टेट आर्म्ड फोर्स (SAF) के एक कॉन्स्टेबल के साथ ऑनलाइन ठगी हुई। उनके मोबाइल पर कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाने के लिए एक लिंक भेजी गई। जब उन्होंने लिंक पर क्लिक किया तो कुछ जानकारी मांगी गई, जिसे भरते ही उनके खाते से तीन लाख रुपए उड़ गए।

ठगी की शिकायत लेकर शत्रुघ्न पटेल शिकायत बैंक पहुंचे, लेकिन हड़ताल के चलते उनकी सुनवाई नहीं हुई। फिर उन्होंने रीवा की साइबर सेल में इसकी शिकायत दर्ज कराई। फिलहाल, ठगों के संबंध में कोई जानकारी नहीं मिली है। जब यह घटना प्रकाश में आई तो भोपाल पुलिस हेडक्वार्टर ने एक एडवाइजरी जारी की है। इस एडवाइजरी में कहा गया है कि, ‘कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए रजिस्ट्रेशन या अन्य किसी कारण से अगर कोई अनजान व्यक्ति संपर्क करता है तो उसके खाते में पैसा ट्रांसफर न करें, उसकी भेजी किसी लिंक पर क्लिक न करें और न ही कोई एप्लीकेशन अपने मोबाइल में डाउनलोड करें, वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन के लिए सीधे नजदीकी स्वस्थ केंद्र में संपर्क करें।’

एडवाइजरी की मुख्य बातें

किसी भी अनजान व्यक्ति को फोन पर अपने बैंक खाता संबंधी एवं व्यक्तिगत जानकारी न दें।
मोबाइल टॉवर लगाने/किओस्क सेंटर खोलने सहित अन्य के नाम से आने वाले फोन कॉल/विज्ञापन से सावधान रहें और किसी भी अंजान व्यक्ति के खाते में पैसे न डालें।
फेसबुक का पासवर्ड स्ट्राॅन्ग बनाएं। जिसमें अल्फाबेट, कोई संख्या और कोई स्पेशल कैरेक्टर शामिल होने चाहिए, न कि किसी का अपना नाम/मोबाइल नंबर।
कोई भी कस्टमर केयर नंबर गूगल से लेने की बजाय ओरिजनल वेबसाइट से हासिल करें।
कस्टमर केयर नंबर हमेशा 1800 से ही शुरू होता है ना कि किसी मोबाइल नंबर से, हो सके तो किसी भी वेबसाइट के URL को सीधे टाइप कर उपयोग करें |
जनजान नंबर और कंपनी के नाम से भेजे गए मैसेज में लुभावने ऑफर की लिंक को क्लिक करने से बचें।
प्रोमोकार्ड, रिवार्ड पॉइंट, कैश बैक के लालच में ना आएं।
लॉटरी लगने के नाम से आए हुए वॉट्सऐप कॉल से सावधान रहें।
ऑनलाइन मनी ट्रांसफर साइट जैसे Airtel Money, PhonePe, Google Pay, PaytM में अनजान लिंक को क्लिक करने से बचें।
ठग आपके खाते में बोनस/पैसा वापस करने के नाम से एक लिंक भेजते हैं जिस पर क्लिक करते ही आपके खाते से पैसा निकल जाएगा।
सोशल मीडिया फेसबुक, वॉट्सऐप में कम कीमत ब्रिकी के पोस्ट पर भरोसा न करें।
फोन पर आई किसी लिंक के जरिए किसी से अपने बैंक खाते की जानकारी जैसे OTP/CVV/PIN/UPI/ATM कार्ड की डिटेल साझा न करें।
साइबर ठग रजिस्ट्रेशन के नाम पर एक छोटी राशि जमा करने का लालच देकर आपके बैंक डिटेल की जानकारी हासिल कर सकते हैं।
अपने क्रेडिट/डेबिट कार्ड अपने सामने ही स्वाइप कराएं। किसी अनजान व्यक्ति से ATM से रकम निकालने में मदद न लें और न ही उसे अपना ATM कार्ड दें। इससे कोई आपके कार्ड की क्लोनिंग कर सकता है।

Related posts