शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए अनोखी पहल, इस राज्य में सड़क किनारे खोले गए निशुल्क पुस्तकालय

mezoram,books,roadside books

चैतन्य भारत न्यूज

आइजोल. मिजोरम में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए एक अनोखी पहल शुरू की है। यहां सड़क किनारे पुस्तकालय खोले गए हैं जहां से राह चलते राहगीर मुफ्त में किताब ले सकते हैं और जमा कर सकते हैं।



mezoram,books,roadside books

इन पुस्तकालयों में बच्चों से लेकर बूढ़े तक हर उम्र के लोगों के लिए किताब मौजूद रहती है। इन पुस्तकालयों में साहित्य, संस्कृति और इतिहास आदि से जुड़ी किताबें मिलती हैं। लोग न सिर्फ इन किताबों का लाभ ले सकते हैं, बल्कि यहां कोई भी व्यक्ति किताब दान भी कर सकता है। जानकारी के मुताबिक, यहां किताब प्रेमी किताबों के रूप में जमा की गई पूंजी को समाज की भलाई के लिए दान कर देते हैं। खास बात तो यह है कि इन पुस्तकालयों की निगरानी के लिए वहां कोई मौजूद नही होता है।

mezoram,books,roadside booksपुस्तकालय पर लिखा हुआ रहता है, ‘पढऩे के लिए यहां से किताब लीजिए और दान कीजिए।’ लोग यहां से किताबें ले जाते हैं और उसे पढ़ने के बाद फिर से जमा कर देते हैं। लोगों की सामूहिक सामाजिक चेतना से ये पुस्तकालय चलते हैं। यहां हर गांव में ग्रामीण पुस्तकालय भी है, जिनको गांव के नागरिक समाज संगठन ही स्वेच्छिक संचालित करते हैं। इसके अलावा यहां चर्च में भी पुस्तकालय है। मिजोरम में उच्च साक्षरता पुस्तकालय संस्कृति के होने का प्रमाण है।

mezoram,books,roadside books

ये भी पढ़े…

केरल के स्कूलों में अनोखी पहल, बच्चों को पानी पीने की याद दिलाई जा सके, इसलिए दिन में तीन बार बजेगी घंटी

बंगाल: स्कूली कोर्स में शामिल होगा गुड टच-बैड टच आप भी अपने बच्चों को इन तरीकों से जरूर सिखाएं

इस देश में छात्राओं के बाल काले नहीं होने पर उन्हें स्कूल से निकाला जा रहा

Related posts