पैसों के दम पर इस अमीर शख्स ने करवाई 8 लाख हत्याएं, 25 साल तक तलाशी के बाद अब हुआ गिरफ्तार

felicien kabuga

चैतन्य भारत न्यूज

फ्रांस में छिपे 8 लाख लोगों की ह्त्या करवाने वाला मोस्ट वांटेड आरोपी गिरफ्तार हो गया है। अफ्रीका के इस आरोपी का नाम फेलिसिएन कबुगा है। कबुगा के सिर पर करोड़ों का इनाम है। आइए जानते हैं क्या है पूरा मामला-

दरअसल, साल 1994 में अफ्रीका के रवांडा में भीषण नरसंहार हुआ था। इस दौरान 8 लाख से ज्यादा लोग मारे गए थे। इस नरसंहार के लिए कबुगा ने ही वित्तीय मदद की थी। इतना ही नहीं बल्कि उसने अपनी कंपनी के जरिए हथियार भी सप्लाई करवाए थे। काबुगा एक समय में रवांडा का सबसे अमीर शख्स हुआ करता था। जानकारी के मुताबिक, वह गलत पहचान के साथ पेरिस में रहता था। पिछले करीब 25 सालों से कबुगा पुलिस से भाग रहा है। लेकिन 16 मई को उसे पेरिस के पास से गिरफ्तार कर लिया गया।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, 84 वर्षीय कबुगा के ऊपर 36 करोड़ रुपए का इनाम रखा गया था। कबुगा ने नरसंहार के दौरान रवांडा हुतु चरमपंथियों को हथियार मुहैया कराए थे। 1994 में रवांडा में करीब तीन महीने से ज्यादा समय तक यह भीषण कत्लेआम चलता रहा था। नरसंहार के कई सालों बाद रवांडा में खुदाई अभियान भी चलाए गए थे जिसमें कई अवशेष मिले थे।

ऐसा माना जा रहा है कि कबुगा जर्मनी, बेल्जियम, केन्या, स्विटजरलैंड जैसे देशों में भी छिपा था। इसके बाद फ्रांस में पेरिस के पास 3 से 4 साल से अपने बच्चों के साथ रह रहा था। फ्रांस की सुरक्षा एजेंसी ने जानकारी दी है कि दो महीने पहले खुफिया सूचना मिलने के बाद कबुगा को पकड़ने का प्लान दोबारा शुरू किया गया था।

बता दें 1997 में यूनाइटेड नेशन्स के इंटरनेशनल क्रिमिनल ट्रिब्यूनल फॉर रवांड ने कबुगा के ऊपर आरोप तय किए थे। कबुगा पर नरसंहार के लिए साजिश रचने समेत और भी कई आरोप लगे थे। इतना ही नहीं बल्कि उस पर ये भी आरोप थे कि उसने धन और प्रभाव का इस्तेमाल किया और चरमपंथियों को ताकत दी। कबुगा की गिरफ्तारी के बाद फ्रांस की अदालत उसे नीदरलैंड के हेग भेज सकती है जहां मेकैनिज्म फॉर इंटरनेशनल क्रिमिनल ट्रिब्यूनल कबुगा पर आगे की कार्रवाई करेगा।

Related posts