दूल्हे ने किया दहेज लेने से मना तो ससुरालवालों ने दे दी ऐसी चीज, अब दूल्हे की खुशी का ठिकाना न रहा

dahej,dowry,west bengal

चैतन्य भारत न्यूज

दहेज को लेकर आए दिन कई मामले सामने आते हैं। इनमे से ज्यादातर मामले दहेज मांगने पर आधारित होते हैं। लेकिन हम आपको आज जिस मामले के बारे में बता रहे हैं उसमे खुद दूल्हे ने दहेज लेने से मना कर दिया। लेकिन फिर भी दूल्हे के ससुराल वालों ने उसे कुछ ऐसा दे दिया कि अब उसकी खुशी का ठिकाना नहीं है। सोशल मीडिया पर इस शादी के बारे में खूब चर्चाएं की जा रही हैं।

पश्चिम बंगाल के रहने वाले सूर्यकांत बरीक जो कि पेशे से शिक्षक हैं उन्होंने पूर्वी मिदनापुर की रहने वाली प्रियंका बेज से शादी की। सूर्यकांत ने अपनी शादी में दहेज न लेने की शर्त रखी थी। जब वह शादी स्थल पर पहुंचे तो उन्हें ससुराल वालों ने ऐसा दहेज दे दिया जिसे देख सूर्यकांत चौंक गए और बाद में वह ऐसा दहेज पाकर बहुत खुश हुए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सूर्यकांत के ससुराल वालों ने उन्हें दहेज के तौर एक हजार किताबें दी। इन किताबों की कीमत एक लाख रुपए हैं। इनमें रबींद्रनाथ टैगोर, बंकिम चंद्र चटर्जी और शरत चंद्र चटोपाध्याय जैसे देश के नामी बंगाली लेखकों के अलावा हैरी पॉटर जैसी किताबें भी शामिल हैं।

सूर्यकांत के लिए ये सभी किताबें 150 किलोमीटर दूर से खासतौर से मंगवाई गई थी। सूर्यकांत की पत्नी प्रियंका का कहना है कि, ‘वह ऐसी शादी में यकीन नहीं करती, जिसमें दहेज दिया-लिया जाए।’ साथ ही प्रियंका ने खुशी जताई है कि उनके पति भी उन्ही की तरह दहेज प्रथा के खिलाफ हैं। खास बात तो यह है कि शादी में आने वाले सभी मेहमानों को भी कोई भी कीमती तोहफा न लाने की अपील की गई थी। उनसे ये कहा गया था कि, किसी और तोहफे की जगह वह भी दूल्हा-दुल्हन को किताबें दें सकते हैं। इतनी सारी किताबें पाकर सूर्यकांत बहुत खुश हैं। उनका कहना है कि, उन्हें तोहफे में इतनी सारी किताबें मिली हैं कि वह एक लाइब्रेरी भी खोल सकते हैं।

Related posts