जन्मदिन विशेष: 10 साल तक मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री, 67 की उम्र में की दूसरी शादी, कुछ ऐसा रहा दिग्विजय सिंह का सफर

digvijay singh,digvijay singh birthday

चैतन्य भारत न्यूज

कांग्रेस के दिग्गज नेताओं में शुमार मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का आज 74वां जन्मदिन है। दिग्विजय सिंह एक ऐसे राजनेता हैं, जो अक्सर ही कभी अपनी पर्सनल तो कभी प्रोफेशनल लाइफ को लेकर चर्चा में बने रहे हैं। जन्मदिन पर जानते हैं कैसा रहा दिग्विजय सिंह का राजनीतिक सफर।


digvijay singh,digvijay singh birthday
दिग्विजय सिंह का जन्म 28 फरवरी 1947 को मध्य प्रदेश के इंदौर में हुआ था। उनके पिता बलभद्र सिंह राघोगढ़ (ग्वालियर स्टेट) के राजा थे। उन्होंने डेली कॉलेज से मैकिनकल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन किया था। इसे बाद दिग्विजय सिंह का ने श्री गोविंददास सेकरसरिया प्रोद्योगिकी एवं विज्ञान संस्थान (SGSITS) इंदौर में दाखिला लिया। राजनीति की कुछ बारीकियां उन्होंने प्रदेश के दिवंगत नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री अर्जुन सिंह से सीखी हैं।

digvijay singh,digvijay singh birthday

दिग्विजय सक्रिय राजनीति में 1971 में आए, जब वह राघोगढ नगरपालिका अध्यक्ष बने। फिर वे साल 1977 में कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीतकर राघोगढ़ विधान सभा क्षेत्र से विधान सभा सदस्य बने। इसके बाद 1978 में दिग्विजय को प्रदेश युवा कांग्रेस का महासचिव बनाया गया। 1980 में अर्जुन सिंह की सरकार में वह मंत्री भी बने थे। इस दौरान उन्होंने कैबिनेट मंत्री के रूप में कृषि, पशुपालन, मत्स्य पालन और सिंचाई क्षेत्र का विकास किया।

digvijay singh,digvijay singh birthday

सन् 1984 में लोकसभा चुनाव के दौरान दिग्विजय राघोगढ़ के ही सांसद के रूप में चुने गए। सांसद बनने के बाद पार्टी ने उन्हें मध्यप्रदेश कांग्रेस कमिटी का अध्यक्ष बनाया। फिर साल 1985 से लेकर 1988 तक इस पद पर दिग्विजय सिंह कार्यरत रहे। जब दिग्विजय ने 1993 में जीत हासिल की तो उन्हें मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री बनने का मौका मिला। अपने कार्यकाल में अच्छे काम के चलते जनता ने उन्हें काफी पसंद किया और 1998 में फिर से जीत हासिल करके मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री बने और 2003 तक रहे। साल 2003 तक सीएम बने रहने के बाद दिग्विजय अगले चुनाव में हार गए और फिर अगले 10 साल तक कहीं से भी चुनाव नहीं लड़ा।

हालांकि, साल 2013 में वापसी करते हुए पार्टी ने उन्हें राष्ट्रीय महासचिव बनाया। 16 सालों बाद दिग्विजय सिंह ने वापसी की और 2019 के लोकसभा चुनाव में वह भोपाल लोकसभा सीट से चुनावी मैदान में उतरें। लेकिन उन्हें बीजेपी की साध्वी प्रज्ञा ठाकुर से हार का सामना करना पड़ा।

digvijay singh,digvijay singh birthday

वहीं उनकी पर्सनल लाइफ की बात करें तो दिग्विजय की पहली शादी आशा दिग्विजय सिंह से हुई, जिससे उनकी दो बेटियां और एक बेटा है। लेकिन 2013 में उनकी पत्नी का कैंसर के चलते निधन हो गया। इसके बाद दिग्विजय का नाम राज्यसभा टीवी की एंकर अमृता राय से जुड़ा। सोशल मीडिया पर उनकी फोटो लीक होने के बाद दिग्विजय खूब चर्चा में बने रहे। हालांकि बाद में 36 की उम्र में दिग्विजय ने अमृता से शादी कर ली।

ये भी पढ़े…

जन्मदिन विशेष: UP के लाल ने किया MP में कमाल, 9 बार सांसद रह चुके हैं सीएम कमलनाथ, ऐसा है राजनीतिक सफर

जन्मदिन विशेष : प्रियंका में दिखती है इंदिरा गांधी की छवि, 16 साल की उम्र में दिया था पहला सार्वजनिक भाषण

जन्मदिन विशेष : दो-दो अफेयर के बावजूद अब तक कुंवारे ही हैं राहुल गांधी!

Related posts