जन्मदिन विशेष: ‘रोडकरी’ के नाम से जाने जाते हैं नितिन गडकरी, सफल उद्यमी भी हैं सड़क परिवहन मंत्री, जानिए कैसा रहा उनका राजनीतिक सफर

चैतन्य भारत न्यूज

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व अध्यक्ष और केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी का आज 64वां जन्मदिवस है। नितिन गडकरी का जन्म 27 मई 1957 को नागपुर, बॉम्बे स्टेट (अब महाराष्ट्र) में हुआ था। नितिन गडकरी मोदी मंत्रीमंडल के सबसे कामयाब मंत्रियो में गिने जाते हैं। जन्मदिन के इस खास मौके पर हम आपको गडकरी के राजनीतिक सफर के बारे में बता रहे हैं-

बिजनेस मैनेजमेंट में डिप्लोमा किया

नितिन गडकरी का जन्म नागपुर जिले के एक मध्यम वर्गीय ब्राह्मण परिवार में हुआ था। उनका पूरा नाम नितिन जयराम गडकरी है। वो कॉमर्स में स्नातकोत्तर हैं और उन्होंने कानून व बिजनेस मैनेजमेंट की पढ़ाई भी की है।

कम उम्र से ही थी राजनीति में दिलचस्पी

अपने बचपन के दौरान, गडकरी का परिवार आर्थिक रूप से मजबूत नहीं था। उन्हें अक्सर अपने परिवार और शिक्षा का समर्थन करने के लिए मासिक और अंशकालिक नौकरियां करनी पड़ती थीं। नितिन गडकरी की राजनीति में बहुत कम उम्र से ही दिलचस्पी थी। वह 1976 में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) में शामिल हुए थे। उन्होंने विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनावों में सक्रिय रूप से भाग लिया था जिसके परिणामस्वरूप ABVP ने नागपुर विश्वविद्यालय छात्रसंघ की सभी सीटों पर जीत हासिल की थी।

‘रोडकरी’ के नाम से भी जाने जाते हैं

23 साल की उम्र में भारतीय जनता युवा मोर्चा के अध्यक्ष बने। संघ के करीबी कहे जाने वाले नितिन गडकरी 1995 में पहली बार महाराष्ट्र में शिवसेना- भारतीय जनता पार्टी की गठबंधन सरकार में लोक निर्माण मंत्री बनाए गए। वो इस कार्यकाल में चार साल तक मंत्री पद पर रहे। इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट में महारत रखने वाले नितिन गडकरी महाराष्ट्र में बेहतरीन सड़कें बनाने के लिए भी जाने जाते हैं। यही वजह है कि शिवसेना के संस्थापक बाल ठाकरे उन्हें ‘रोडकरी’ कहते थे। मोदी सरकार में भी सड़क परिवहन मंत्रालय की कमान संभालने के बाद उन्होंने कई बड़े प्रोजेक्ट्स को मुकाम तक पहुंचाया।

2009 में बने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष

उन्हें 2004 में महाराष्ट्र भाजपा के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था। दिसंबर 2009 में गडकरी को भाजपा का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया था। उन्होंने जनवरी 2013 तक इस पद पर रहे, जब राजनाथ सिंह को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था। उन्होंने 2014 के लोकसभा चुनाव नागपुर सीट से लड़े और जीत हासिल की। उन्हें नरेंद्र मोदी सरकार में सड़क परिवहन और राजमार्ग के केंद्रीय मंत्री के रूप में शामिल किया गया था। गडकरी को केंद्रीय मंत्री गोपीनाथ मुंडे की मृत्यु के बाद सितंबर 2017 में शिपिंग और जल संसाधन मंत्रालय, और नदी विकास और गंगा कायाकल्प मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार दिया गया था। 2019 में, उन्होंने नागपुर लोकसभा क्षेत्र से फिर से आम चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। 31 मई 2019 को, उन्हें केंद्रीय सड़क परिवहन, राजमार्ग, और शिपिंग और सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय में शामिल किया गया।

सफल उद्यमी भी हैं गडकरी 

नितिन गडकरी की एक छवि इनोवेटिव मंत्री के तौर पर भी होती रही है, क्योंकि वॉटर मैनेजमेंट, सोलर एनर्जी प्रोजेक्‍ट हो या फिर एग्रीकल्चर इनोवेशन गडकरी आधुनिक तरीकों से उद्योग स्थापित करने के लिए जाने जाते रहे हैं।

Related posts