महाकुंभ 2021: हरिद्वार में महाकुंभ की हुई फीकी शुरुआत, कम संख्या में श्रद्धालु, इन 12 राज्यों के यात्रियों की अनिवार्य रूप से होगी जांच

चैतन्य भारत न्यूज

हरिद्वार में आज से महाकुंभ-2021 का श्रीगणेश हो गया है। हालांकि, कोरोना संकट के कारण महाकुंभ की शुरुआत फीकी दिखी। हरि की पैड़ी में श्रद्धालुओं की संख्या हर बार की तुलना में काफी कम नजर आ रही है। कोरोना संकट के बावजूद कई लोग बिना मास्क के नजर आए।

कोरोना के चलते नियमों में सख्ती

बता दें कोरोना वायरस के मद्देनजर राज्य में इस महाआयोजन को लेकर नियम काफी सख्त किए गए हैं। 30 अप्रैल तक चलने वाले महाकुंभ में गंगा स्नान के लिए श्रद्धालुओं को कोविड-19 की 72 घंटे पहले तक की आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट लानी होगी। बिना कोविड निगेटिव रिपोर्ट के श्रद्धालु गंगा स्नान नहीं कर पाएंगे। वहीं जिन लोगों को कोरोना वायरस वैक्सीन लग चुकी है, यदि वे अपना सर्टिफिकेट दिखाते हैं तो उन्हें छूट मिल सकती है। इतना ही नहीं, उत्तराखंड को जोड़ने वाले सभी रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट और बॉर्डर की चौकियों पर रैंडम टेस्टिंग का आदेश दिया गया है।

हो रही रैंडम सैंपलिंग

कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित 12 राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं पर विशेष नजर रहेगी। जिले के सभी बॉर्डर और मेला क्षेत्र में स्वास्थ्य विभाग श्रद्धालुओं की रैंडम सैंपलिंग करेगा। धर्मशालाओं और होटलों में बिना कोविड निगेटिव रिपोर्ट के श्रद्धालु नहीं ठहर पाएंगे। कुंभ मेला सीएमओ डॉ। एसके झा ने बताया कि बॉर्डर और मेला क्षेत्र में रैंडम सैंपलिंग की जाएगी। अतिसंवेदनशील राज्यों से आने वाले परिवारों के एक-दो सदस्यों के रैंडम सैंपल लिए जाएंगे। बॉर्डर पर पॉजिटिव आने पर सभी लोगों को लौटा दिया जाएगा। मेला क्षेत्र में पॉजिटिव मिलने वालों को कोविड केयर सेंटरों में आइसोलेट किया जाएगा। जांच के लिए 33 टीमें बनाई हैं। इनमें दस निजी और 23 सरकारी हैं। 10 हजार से अधिक एंटीजन सैंपल रोजाना लिए जाएंगे।

इन 12 राज्यों के यात्रियों की अनिवार्य रूप से होगी जांच

कोविड के लिहाज से अतिसंवेदनशील 12 राज्यों से आने वाले यात्रियों की राज्य सीमा पर अनिवार्य रूप से कोरोना जांच की जाएगी। संक्रमण की पुष्टि होने पर यात्री और उसके पूरे समूह को लौटा दिया जाएगा। शासन ने महाराष्ट्र, केरल, पंजाब, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, गुजरात, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, दिल्ली और राजस्थान से आने वाले यात्रियों को कोविड आरटीपीसीआर रिपोर्ट लाने की सलाह दी है।

ये भी पढ़े…

हरिद्वार कुंभ 2021: इस बार कम दिनों के लिए आयोजित होगा कुंभ मेला, ये हैं शाही स्नान की तारीखें

हरिद्वार कुंभ में जाने के लिए कोरोना निगेटिव रिपोर्ट जरूरी, HC ने की CM तीरथ के फैसले की निंदा

हरिद्वार कुंभ 2021: अधिकारियों और कर्मचारियों को हर स्नान के बाद कोरोना टेस्ट करवाना जरूरी

Related posts