हरिद्वार कुंभ : निर्वानी अखाड़े के संत की कोरोना से मौत, रोजाना 6 से 10 संत मिल रहे संक्रमित, वक्त से पहले खत्म हो सकता है मेला

चैतन्य भारत न्यूज

हरिद्वारउत्तराखंड के हरिद्वार में चल रहे महाकुंभ में कोरोना विस्फोट हुआ है। 10 से 14 अप्रैल के बीच में यहां 1701 तीर्थयात्री और साधु कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। अखाड़ों में संक्रमित संतों की संख्या 40 तक पहुंच गई है। सभी 13 अखाड़ों की छावनियों में हजारों की संख्या में देशभर से आए संत कल्पवास कर रहे हैं। अखाड़ों की छावनियों में संतों दर्शनों के लिए श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ रही है।

निर्वानी अखाड़े के संत की कोरोना से मौत

कुंभ मेले में हिस्सा लेने आए निर्वानी अखाड़े के संत कपिल देव की गुरुवार को कोरोना से मौत हो गई। कपिल देव कोरोना पॉजिटिव थे और देहरादून के कैलाश अस्पताल में भर्ती थे। बता दें मेले में कई धर्मिक संगठन के प्रमुखों ने कोरोना टेस्ट कराने से इंकार कर दिया था। नतीजन अब मेले में हालात बेहद खराब हो सकते हैं। वहीं, इस दौरान कोरोना गाइडलाइन्स का पालन नहीं किया जा रहा है। ना तो मास्क दिख रहा है और ना ही सोशल डिस्टेंसिंग का ही पालन किया जा रहा है।

समय से पहले खत्म हो सकता है कुंभ

हरिद्वार में बढ़ते संक्रमण को देखते हुए कुंभ मेले को दो हफ्ते पहले खत्म किया जा सकता है। सूत्रों के मुताबिक, उत्तराखंड सरकार और धार्मिक नेताओं के बीच चर्चा के बाद यह फैसला लिया गया है। गंगा नदी के तट पर होने वाले वार्षिक कार्यक्रम में नदी में डुबकी लगाने के लिए हजारों की संख्या में लोग पहुंचे हुए हैं। इसने देशभर में कोरोना के मामले बढ़ाने को लेकर चिंता बढ़ा दी थी। पिछले दो शाही स्नान जैसे बड़े कार्यक्रम के दौरान क्रमशः 31 लाख और 14 लाख लोगों ने गंगा में डुबकी लगाई। इस दौरान हरिद्वार में कोरोना संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी हुई है।

Related posts