UP: दो हफ्तों से जिंदगी-मौत के बीच जंग लड़ रही दुष्कर्म पीड़िता की मौत, गला दबाकर की मारने की कोशिश

चैतन्य भारत न्यूज

उत्तर प्रदेश के हाथरस में एक दलित युवती के साथ दरिंदों की हैवानियत की हदें पार कर दी थी। बीते दो हफ्तों से जिंदगी और मौत के बीच झूल रही इस बेटी ने आज दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में अंतिम सांस ली। बता दें चंदपा थाना क्षेत्र की रहने वाली दलित युवती के साथ 14 सितंबर को सामूहिक दुष्कर्म की घटना हुई थी। दुष्कर्म के बाद उसके उपर जानलेवा हमला किया गया था। इसके बाद उसे अलीगढ़ के जेएन मेडिकल में भर्ती कराया गया था। कल ही उसे सफदरजंग रेफर किया गया था।

गला भी दबाया

थाना चंदपा क्षेत्र के एक गांव में 19 साल की एक दलित युवती के साथ यह घिनौनी वारदात 14 सितंबर को तब घटी थी, जब युवती पशुओं का चारा लेने के लिए अपनी मां के साथ खेत पर गई थी। आरोपियोंं ने सिर्फ उस मासूम पीड़िता के साथ दुष्कर्म ही नहीं किया बल्कि उसका गला भी दबाया। गला दबाने के कारण जीभ दांतों के बीच में आ गई थी जिसके कारण चोट लग गई। जीभ पर चोट लगने के कारण पीड़िता के लिए पुलिस को अपना बयान देना आसान नहीं था। लेकिन फिर भी इस बहादुर बेटी ने हिम्मत नहीं हारी और पुलिस को आरोपितों के बारे में सब कुछ बता दिया। उसने इशारों-इशारों में खुद पर हमले और दरिंदगी की बातें ही बताई।

चार आरोपित गिरफ्तार

इस वारदात से आक्रोशित दलित समाज के लोगों ने जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन किया था। पुलिस ने एक-एक करके वारदात के सभी चार आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। इलाके के थानेदार को लाइन हाजिर कर दिया गया है। रविवार को भीम आर्मी व आजाद समाज पार्टी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद पीड़िता से मिलने अलीगढ़ आए थे।

 

Related posts