ममता-सीबीआई मामलाः सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, कोर्ट का आदेश-जांच में सहयोग करें कमिश्नर राजीव

चैतन्य भारत न्यूज

शारदा चिटफंड मामले में सीबीआई और कोलकाता पुलिस के बीच विवाद के बाद केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने वाली पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का धरना आज तीसरे दिन भी जारी है।इस मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में भी सुनवाई शुरू हो चुकी है।

जानते हैं सुनवाई से जुड़े कुछ प्रमुख तथ्य…

सुप्रीम कोर्ट में ममता औऱ सीबीआई मामले को लेकर सुनवाई चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस दीपक गुप्ता और जस्टिस संजीव खन्ना की बेंच के सामने हो रही है।

जानकारी अनुसार सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में मांग की है कि सुप्रीम कोर्ट राजीव कुमार को सरेंडर या पूछताछ के लिए उपलब्ध होने और राज्य के मुख्य सचिव मलय कुमार डे, डीजीपी वीरेंद्र कुमार और राजीव कुमार के खिलाफ न्यायालय की अवमानना की कार्यवाही शुरू करने का निर्देश दे।

सोमवार को सीबीआई के पक्ष में सुप्रीम कोर्ट में सलिसिटर जनरल तुषार मेहता पेश हुए थे। रविवार के घटनाक्रम का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, ‘पश्चिम बंगाल पुलिस द्वारा सीबीआई के जॉइंट कमिश्नर के घर पर पहरा लगाकर उन्हें और उनके परिवार को बंधक बना लिया गया था। फिर सीबीआई के अंतरिम डायरेक्टर द्वारा कई फोन कॉल करने के बाद फोर्स को वहां से हटाया गया।’

कमिश्नर राजीव कुमार के खिलाफ सीबीआई ने अपने दस्तावेज में कहा है कि सीबीआई ने सर्विस प्रोवाइडर से ऑरिजनल सीडीआर हासिल की है। सर्विस प्रोवाइडर से मिली सीडीआर और राजीव कुमार द्वारा उपलब्ध कराई गई सीडीआर की तुलना की गई तो साफ हो गया कि राजीव कुमार द्वारा उपलब्ध कराई गई सीडीआर से छेड़छाड़ की गई है।

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा है कि हम पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को जांच में सहयोग करने के लिए कहेंगे।

सुप्रीम कोर्ट ने कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को सीबीआई के सामने पेश होने व सहयोग करने को कहा, लेकिन गिरफ्तारी न हो। सीबीआई की अर्ज़ी पर सुप्रीम कोर्ट ने नोटिस भी जारी किया। अगली सुनवाई 28 फरवरी को होगी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि राजीव कुमार को भी 28 फरवरी को पेश होना होगा।

ममता ने बताया नैतिक जीत

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले को ममता बनर्जी ने जीत बताया, उन्होंने कहा- पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार ने कभी पेश होने से मना नहीं किया। हम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं।

राजीव कुमार से सीबीआई पूछताछ करेगी।

ममता का कहना केंद्र सरकार हमें काम नहीं करने दे रही

सुप्रीम कोर्ट का आदेश- कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार सीबीआई जांच में सहयोग करें। पूछताछ के लिए हाज़िर हों, शिलांग में राजीव कुमार से पूछताछ की जाएगी।

सीबीआई की अवमानना याचिका पर मुख्य सचिव, डीजीपी और राजीव कुमार को नोटिस भेजा है।

जानें क्या है मामला…

https://www.chaitanyabharatnews.com/cbi-police-matter-in-bangal/

Related posts