अमित शाह का बड़ा दावा- पहले चरण की 30 में से 26 सीटें जीतेंगे, बंगाल में BJP की सरकार बनेगी

चैतन्य भारत न्यूज

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने पहले चरण के मतदान के बाद पश्चिम बंगाल और असम में बीजेपी के जीत हासिल करने का भरोसा जताया है। रविवार को नई दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित कर शाह ने कहा कि, ‘असम और बंगाल इस चुनाव से पहले चुनावी हिंसा के लिए जाने वाले प्रदेश थे। दोनों जगह पहले चरण में शांतिपूर्ण मतदान हुआ। यह आने वाले समय के लिए शुभ संकेत हैं।’ साथ ही शाह ने यह दावा किया है कि, ‘बंगाल में भाजपा पहले चरण की 30 में से 26 सीटें जीतेगी।’ शाह ने कहा कि, ‘बंगाल में हमारा वोट भी बढ़ेगा और हमारी सीटों पर जीत का अंतर भी बढ़ेगा। वहीं, असम में 47 में से 37 सीटों पर भाजपा को जीत मिलेगी।’

अमित शाह ने रविवार को कहा कि ‘कल असम और बंगाल में 2 चरण का मतदान पूरा हुआ है। मैं बीजेपी की ओर से पार्टी अध्यक्ष और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से प्रथम चरण के मतदान के लिए दोनों राज्यों की जनता का धन्यवाद करता हूं। अमित शाह ने दोनों राज्यों में बीजेपी के जीत हासिल करने का दावा किया।’

प्रेस कॉन्फ्रेंस में अमित शाह ने कहा कि, ‘पश्चिम बंगाल में 84 प्रतिशत से ज्यादा वोटिंग और असम में 79 प्रतिशत से ज्यादा मतदान होना बताता है कि जनता में भारी उत्साह है। असम कुछ वर्षों पहले और बंगाल भी पहले चुनावी हिंसा के लिए जाना जाता था। इस बार दोनों जगह मतदान शांतिपूर्ण हुआ है, किसी भी व्यक्ति की जान कहीं भी नहीं गई है। ये दोनों राज्यों के लिए शुभ संकेत हैं।’

शाह ने कहा कि, ‘पहले चरण में बंगाल में 30 में से 26 सीटों से ज्यादा पर बीजेपी जीत रही है, प्रचंड बहुमत के साथ सीटें जीत रही हैं। हमारी सीटें भी बढ़ रही हैं और जीत का अंतर भी बढ़ रहा है। असम में 47 में से 37 सीटों से ज्यादा पर बीजेपी जीतेगी, इसके साफ संकेत हमें मिले हैं।’

उन्होंने आगे कहा, ‘मैं मानता हूं कि बंगाल में प्रथम चरण में 26 सीटों से जो शुरुआत हुई है, हमारे लक्ष्य 200 पार को सिद्ध करने में हमें बड़ी सरलता रहेगी। बीजेपी 200 से ज्यादा सीटों के साथ बंगाल में सरकार बनाएगी, इसका मुझे और सभी कार्यकर्ताओं को पूरा विश्वास है।’

गृह मंत्री ने कहा कि ‘बंगाल में जिस प्रकार का घोर निराशा और हताशा का माहौल था। 27 साल के कम्युनिस्ट शासन के बाद बंगाल के लोगों को आशा थी कि दीदी एक नई शुरुआत लेकर आएगी। मगर दल का चिन्ह और नाम बदल गया, लेकिन बंगाल वहीं का वहीं रहा बल्कि और गिरावट आई। मैं चुनाव आयोग को बधाई देता हूं कि बंगाल में चुनाव आयोग को शांतिपूर्ण मतदान कराने में उन्हें सफलता मिली है। ये कई वर्षों के बाद हो रहा है कि बिना किसी की मृत्यु के, बम धमाकों के बिना, दोबारा मतदान कराए बिना, मतदान प्रक्रिया पूरी हुई है।’

Related posts