23 साल के इस दुबले-पतले लड़के ने चीन की नाक में किया दम, लाखों युवा प्रदर्शन में हुए शामिल

joshua wong

चैतन्य भारत न्यूज

हॉन्ग-कॉन्ग का एक दुबला-पतला सा 23 साल का लड़का इन दिनों सोशल मीडिया पर छाया हुआ है। इस लड़के का नाम है जोशुआ वॉन्ग जिसके आंदोलन ने सबसे ताकतवर देशों में से एक चीन की ताकत तक को चुनौती दे डाली है। दरअसल, हॉन्ग-कॉन्ग प्रशासन एक विधेयक लेकर आया था जिसमें वहां के प्रदर्शनकारियों को चीन लाकर मुकदमा चलाने की बात थी। बस फिर क्या वॉन्ग और उसके समर्थक सड़कों पर उतर आए।

पिछले कई दिनों से लाखों प्रदर्शनकारी हॉन्ग-कॉन्ग की सड़कों प्रदर्शन कर रहे हैं। इस प्रदर्शन के कारण हॉन्ग-कॉन्ग एयरपोर्ट से उड़ाने भी रद्द हो गई हैं। प्रदर्शनकारियों ने सोमवार को हॉन्ग-कॉन्ग के प्रमुख एयरपोर्ट पर भी कब्जा कर लिया था। एयर इंडिया ने भी हॉन्ग-कॉन्ग के लिए अपनी सभी फ्लाइट्स रद्द कर दी। बता दें चीन के खिलाफ हॉन्ग-कॉन्ग में वहां की युवा आबादी प्रदर्शन कर रही है। उन्होंने मिलकर चीन की नाक में दम कर दिया है। प्रदर्शनकारियों की पार्टी डोमेसिस्टो के सभी नेताओं की उम्र 20 से 25 वर्ष के बीच है।

क्या है प्रदर्शनाकारियों की मांग?

दरअसल हॉन्ग-कॉन्ग प्रशासन पिछले दिनों एक विधेयक लेकर आया था, जिसके मुताबिक यदि हॉन्ग-कॉन्ग का कोई भी व्यक्ति चीन में कोई अपराध करता है या फिर प्रदर्शन करता है तो उसके खिलाफ हॉन्ग-कॉन्ग में नहीं बल्कि चीन में मुकदमा चलाया जाएगा। ऐसे में वहां के युवाओं को लगा कि चीन की कम्यूनिस्ट पार्टी इस बिल के जरिए अपना दबदबा कायम करना चाहती है। बस फिर क्या इस बिल के खिलाफ हॉन्ग-कॉन्ग के युवा सड़कों पर उतर चीन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने लगे। हालांकि इस प्रदर्शन को देखते हुए हॉन्ग-कॉन्ग की सरकार ने विधेयक वापस ले लिया। लेकिन फिर भी युवाओं का आंदोलन खत्म नहीं हुआ है। अब प्रदर्शनकारियों की यह मांग है कि हॉन्ग-कॉन्ग में लोकतांत्रिक व्यवस्था और अधिक मजबूत हो। बता दें हॉन्ग-कॉन्ग चीन का हिस्सा होते हुए भी एक स्वतंत्र प्रशासनिक इकाई का दर्जा रखता है। यह चीन का विशेष प्रशासनिक क्षेत्र कहलाता है।

Related posts