पढ़ते समय दिमाग की परतें कैसे करती हैं काम? शोधकर्ताओं ने पहली बार लगाया पता

human brain

चैतन्य भारत न्यूज

लंदन. शोधकर्ताओं ने पहली बार यह पता लगाने में सफलता हासिल की है कि पढने के दौरान दिमाग की दो परतें आपस में किस प्रकार से संचार स्थापित करती हैं। इस रिसर्च के जरिए न्यूरो इमेजिंग तकनीक और मस्तिष्क में फैली तंत्रिकाओं के जाल की संरचना की हमारी समझ में वृद्धि होगी। साथ ही इसके जरिए यह जानने में भी सहायता मिलेगी कि मानव मस्तिष्क की भाषा को किस प्रकार से समझता है।

रिपोर्ट के मुताबिक, जब भी व्यक्ति कोई शब्द पढ़ता है तो उसके दिमाग में दो प्रक्रियाएं एक साथ होती हैं। वैज्ञानिक भाषा में एक प्रक्रिया ‘बॉटम-अप’ और दूसरी प्रक्रिया को ‘टॉप-डाउन’ कहा जाता है। पहली प्रक्रिया वह है जिसके द्वारा दिमाग अक्षरों को पहचानता है, जबकि दूसरी प्रक्रिया में दिमाग स्मृति की सहायता से उन शब्दों का अर्थ समझता है।

यह रिसर्च नीदरलैंड स्थित मैक्स प्लांक इंस्टीट्यूट फॉर साइकोलिंग्विस्टिक्स के शोधकर्ताओं ने की है। उनका कहना है कि, ‘बिना दिमाग को खोले उसके अंदर विभिन्न परतों के बीच जाने वाले संदेश को मापना बेहद कठिन था। इसलिए उन्होंने दिमाग के अंदर 1 मिलीमीटर से भी पतली परतों की पड़ताल के लिए लैमिनर फंक्शनल मैग्नेटिक रेजोनेंस इमेजिंग (विशेष प्रकार की एमआरआई तकनीक) का प्रयोग किया।

अध्ययन के मुताबिक, भीतरी परतों में टॉप डाउन प्रक्रिया की सूचना और मझली परतों में बॉटम-अप की प्रक्रिया देखी गई। मैक्स प्लांक इंस्टिट्यूट के एक शोधकर्ता पीटर हागुर्ट ने बताया कि, दिमाग की सबसे ऊपरी सतह ‘कोर्टेक्स’ में इस प्रकार का प्रयोग पहली बार सफलतापूर्वक किया गया है। इस प्रयोग के जरिए भाषा, विज्ञान और दिमाग की संरचना सभी के बारे में जानने में मदद मिलेगी।

ये भी पढ़े…

आशा से भरे लोग लंबे समय तक रहते हैं जीवित, शोध में हुआ खुलासा

ज्यादातर भारतीय लोगों को चाहिए लंबे बालों वाली बहू, शोध में हुआ खुलासा

जीवनसाथी को खुश रखेंगे तो मिलेगी लंबी उम्रः शोध

Related posts