NEET-JEE EXAM 2020: सफलता पाने के लिए छात्र इस तरह करें परीक्षा की तैयारी, इन बातों का रखना होगा खासतौर से ध्यान

चैतन्य भारत न्यूज

इंजीनियरिंग और मेडिकल पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए होने वाली परीक्षा जेईई और नीट के आयोजन में अब बेहद कम दिन बचे हैं। जेईई की परीक्षा 1 सितंबर से लेकर 6 सितंबर के बीच आयोजित होगी। जबकि नीट परीक्षा 13 सितंबर को होगी। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने दोनों ही प्रवेश परीक्षाओं के लिए दिशानिर्देश भी जारी कर दिए हैं। जो भी छात्र जेईई और नीट परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं वो इन जरूरी बातों का खासतौर से ध्यान रखें।

तैयारी कर रहे छात्रों को इन बातों का रखना होगा ध्यान- 

  • नीट-जेईई परीक्षा में अब ज्यादा वक्त नहीं बचा है, इसलिए नए टॉपिक की तैयारी करने से बचे।
  • अभ्यर्थी इस प्रवेश परीक्षा में बेहतर परिणाम पाने के लिए हर दिन कम से कम दस घंटे जरूर पढाई करें।
  • परीक्षा की तैयारी शेड्यूल के हिसाब से ही करें।
  • अभ्यर्थी अपने नोट्स हर वक्त अपने साथ रखें और उनसे ही पढ़ाई करें।
  • परीक्षा में कम दिन बचे हैं, ऐसे में ज्यादा से ज्यादा मॉक टेस्ट करें।
  • ध्यान रहे कि किसी भी तरह के अवसाद को अपने आस-पास न फटकने दें।
  • परीक्षा की तैयारी के साथ ही कम से कम छह-सात घंटे की नींद जरूर लें।
  • अभ्यर्थी पढ़ाई के साथ ही योग व मेडिटेशन भी करें ताकि उनका ध्यान केंद्रित रह सकें।

जरूरी दिशानिर्देश

  • सभी अभ्यर्थियों को मास्क और ग्लब्स पहनकर परीक्षा देनी होगी।
  • अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्रों में नये मास्क और ग्लब्स दिए जाएंगे।
  • हर अभ्यर्थी को सेल्फ डिक्लरेशन देना होगा कि वो कोरोना पॉजिटिव नहीं है।
  • छात्रों को परीक्षा केंद्र में प्रवेश से पहले साबुन से हाथ भी धोने होंगे।
  • घर से पारदर्शी बोतल में पानी लाना होगा। खुद का सैनिटाइजर भी लाना होगा।
  • नीट परीक्षा के दौरान हर परीक्षा हॉल में सिर्फ 12 अभ्यर्थी ही बैठेंगे।
  • जेईई परीक्षा में एक-एक सीट छोड़कर अभ्यर्थियों को बिठाया जाएगा।
  • परीक्षार्थियों को एक-दूसरे से छह फीट की दूरी बनानी होगी।
  • अभ्यर्थियों, शिक्षकों और स्टाफ का थर्मल स्क्रीनिंग से तापमान नापा जाएगा।
  • हर परीक्षा केंद्र को परीक्षा से पहले ठीक से सैनिटाइज किया जाएगा।

Related posts