धरती की तरफ तेजी से बढ़ रहा यह एस्टेरॉयड, माउंट एवरेस्ट से कई गुना ज्यादा बड़ा है आकार

asteroid

चैतन्य भारत न्यूज

कोरोना वायरस ने इस समय पूरे विश्व में आतंक मचा रखा है। अब तक ये वायरस 9 हजार से ज्यादा लोगों की जान ले चुका है, जबकि करीब ढ़ाई लाख लोग इसके संक्रमण का शिकार हो गए हैं। इसी बीच सोशल मीडिया पर एक खगोलीय घटना को लेकर दावा किया जा रहा है। कुछ लोग सोशल मीडिया पर यह दावा कर रहे हैं कि 29 अप्रैल को पूरी दुनिया का विनाश हो जाएगा। तमाम अफवाह फैलने के बाद अब अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा (NASA) ने इसकी सच्चाई बताई है।


ये है दावा

दरअसल सोशल मीडिया पर कई ऐसे वीडियो वायरल हो रहे हैं जिनमें यह दावा किया जा रहा है कि आगामी 29 अप्रैल को इस दुनिया से मानव सभ्यता का खात्मा हो जाएगा। वीडियो में बताया गया है कि 29 अप्रैल को एक एस्टेरॉयड (क्षुद्रग्रह, छोटा तारा) पृथ्वी से टकराएगा, जिसके बाद भयंकर तबाही और विनाश जैसी स्थिति आ सकती है। लेकिन ये सभी खबरें पूरी तरह से गलत हैं।

ये है सच्चाई

नासा ने बताया है कि यह बात सच है कि एक बड़ा एस्टेरॉयड तेजी से धरती की तरफ आ रहा है। इसका आकर धरती के सबसे ऊंचे पहाड़ माउंट एवरेस्ट से भी कई गुना ज्यादा बड़ा है। लेकिन ये पृथ्वी से करीब 6.4 मिलियन मील की दूरा से गुजरेगा।

नासा ने क्या कहा

नासा के मुताबिक, इस एस्टेरॉयड की गति 31,319 किलोमीटर प्रतिघंटा है यानी करीब 8.72 किलोमीटर प्रति सेंकड है। लेकिन इससे घबराने की जरुरत नहीं है क्योंकि यह धरती से करीब 64 लाख किलोमीटर दूर से गुजरेगा। अंतरिक्ष विज्ञान में यह दूरी बहुत ज्यादा नहीं मानी जाती है लेकिन बहुत कम भी नहीं मानी जाती है।

1998 में पहली बार देखा था

हालांकि, कुछ वैज्ञानिकों ने इसके धरती से टकराने की भी आशंका जताई है। वैज्ञानिकों ने इस एस्टेरॉयड को 52768 (1998 OR 2) नाम दिया गया है। नासा ने इस एस्टेरॉयड को सबसे पहले साल 1998 में देखा था। इसका व्यास (Diameter) करीब 4 किलोमीटर का है।

झूठे हैं सभी दावे

वैज्ञानिकों का अनुमान है कि यह एस्टेरॉयड 29 अप्रैल को धरती के पास से गुजरेगा। खगोलविदों ने बताया कि, ‘ऐसे एस्टेरॉयड की हर 100 साल में धरती से टकराने की 50,000 बार संभावनाएं होती हैं। लेकिन, किसी न किसी तरीके से ये पृथ्वी के किनारे से निकल जाते हैं।’ नासा द्वारा दी गई जानकारी सामने आने के बाद यह तो साफ हो गया है कि इस एस्टेरॉयड से धरती पर कोई असर नहीं पड़ने वाला है। वहीं दुनिया ख़त्म होने से जैसे सभी दावे भी झूठे हैं।

ये भी पढ़े… 

चंद्रयान-2 ने पहली बार भेजी तस्वीरें, दिखा अंतरिक्ष से धरती का बेहद खूबसूरत नजारा 

अंतरिक्ष में पहुंचाई गईं फ्रेंच शराब की 12 बोतलें, लेकिन इसे नहीं पी पाएंगे अंतरिक्ष यात्री

328 दिनों तक अंतरिक्ष में रहने के बाद धरती पर लौटी क्रिस्टीना कोच

भारत में दिखा सूर्य ग्रहण का अद्भुत नजारा, नासा ने जारी की चेतावनी

Related posts