हैदराबाद : आरोपितों के परिजनों ने शवों को लेने से किया इंकार, पुलिस करेगी अंतिम संस्कार

rape case,hyderabad rape murder

चैतन्य भारत न्यूज

हैदराबाद. हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ हैवानियत करने वाले चारों आरोपितों को पुलिस एनकाउंटर में ढेर कर दिया गया है। शुक्रवार (6 दिसंबर) सुबह हैदराबाद के एनएच 44 पर पुलिस के साथ मुठभेड़ में आरोपियों को ढेर किया गया। पुलिस के द्वारा किए गए एनकाउंटर पर कई सवाल भी खड़े हो रहे हैं, जबकि कई लोग उनकी तारीफ भी कर रहे हैं।



खबरों के मुताबिक, आरोपितों के शवों को उनके परिजनों ने लेने से मना कर दिया है। लिहाजा अब तेलंगाना पुलिस सभी आरोपियों का अंतिम संस्कार कर सकती है। वहीं डॉ. दिशा की बहन ने चारों आरोपितों के एनकाउंटर पर कहा कि उनकी बहन को न्याय मिल गया है।

पुलिस कमिश्नर वी सी सज्ज्नार ने बताया कि, पुलिस ने आरोपितों को चेताया था और सरेंडर करने को कहा था लेकिन उन्होंने फायरिंग जारी रखी। यही कारण रहा कि हमने खुली फायरिंग की और इसी दौरान आरोपी मारे गए। कमिश्नर ने कहा कि जो दो पुलिसवाले घायल हुए हैं उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया है।

गौरतलब है कि हैदराबाद में 27 साल की एक महिला वेटेनरी डॉक्टर से पहले सामूहिक दुष्कर्म किया गया और फिर बाद में पेट्रोल छिड़क कर उसको जिंदा जला दिया, जिसमें पीड़िता की मौत हो गई। मामला सामने आने के बाद लोगों ने वारदात का जमकर विरोध किया और देशभर में प्रदर्शन के दौर शुरू हो गया।

ये भी पढ़े…

जहां महिला डॉक्टर के साथ हुई दरिंदगी, पुलिस ने उसी जगह चारों आरोपितों को मार गिराया, जानें पूरी कहानी

हैदराबाद एनकाउंटर पर उठ रहे सवाल, लोगों ने कहा- तेलंगाना पुलिस यह शर्मनाक, पुलिस के खिलाफ की FIR दर्ज करने की मांग

हैदराबाद : एनकाउंटर मैन के नाम से मशहूर हैं कमिश्नर सज्जनार, एसिड अटैक के आरोपितों का भी किया था बुरा हाल

Related posts