हैदराबाद एनकाउंटर पर उठ रहे सवाल, लोगों ने कहा- तेलंगाना पुलिस यह शर्मनाक, पुलिस के खिलाफ की FIR दर्ज करने की मांग

hyderabad police encounter

चैतन्य भारत न्यूज

हैदराबाद. तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ हैवानियत करने वाले चारों आरोपितों को शुक्रवार को पुलिस एनकाउंटर में ढेर कर दिया गया है। बता दे आरोपितों ने 27 नवंबर को एक महिला डॉक्टर के साथ पहले दुष्कर्म किया था और बाद में उसे जिंदा जला दिया था। पुलिस द्वारा किए गए इस एनकाउंटर की ज्यादातर लोग तारीफ कर रहे हैं, लेकिन देश में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो इसे लेकर कई सवाल खड़े कर रहे हैं।


पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी से सांसद मेनका गांधी ने हैदराबाद में हुए एनकाउंटर पर सवाल उठाए हैं। मेनका ने कहा कि, ‘हैदराबाद में जो हुआ वह सही नहीं है। एनकाउंटर इसका सॉल्यूशन नहीं है। आरोपियों को एक न्यायिक प्रक्रिया के तहत सजा मिलनी चाहिए। ये आरोपी तो थाने या जेल में होंगे, कहां भाग कर जा रहे थे। क्या यूपी के नेता चाहते हैं कि उन्नाव के आरोपियों का भी एनकाउंटर हो।’



दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि, ‘बीते दिनों हैदराबाद में जो हुआ, फिर उन्नाव की घटना हुई इसी कारण अब इस एनकाउंटर पर लोग खुशी जता रहे हैं। लेकिन इससे जस्टिस सिस्टम पर भी सवाल खड़े होते हैं, लोगों का एजेंसियों से भरोसा उठ गया है। ऐसे में समाज को चिंतन करना होगा और सरकारों को एक्शन लेना होगा।’

ट्वीटर पर राघवेंद्र नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘मुझे इन आरोपियों के साथ बिल्कुल भी सहानुभूति नहीं है लेकिन यह न्याय करने का कोई तरीका नहीं है। तेलंगाना पुलिस यह शर्मनाक है।’

एक और यूजर ने लिखा, ‘मुझे भले ही ट्रोल किया जाएगा लेकिन न्याय का यह सही तरीका नहीं है। हमने पुलिस को आरोपियों पर गोली चलाने के लिए नहीं बल्कि ऐसे समाज की मांग की थी जिसमें महिलाएं सुरक्षित रह सके। इस एनकाउंटर से कुछ लोगों को खुशी मिलेगी लेकिन इससे समस्या खत्म नहीं होने वाली है।’

वहीं बिगबॉस कंटेस्टेंट तहसीन पूनावाला ने लिखा कि, ‘संसद के भीतर कुछ सांसद रेप आरोपियों की पब्लिक लिचिंग करने की मांग करते हैं और पुलिस एनकाउंटर कर देती है। व्यवस्था दुरुस्त करने के बजाय पुलिस एनकाउंटर कर रही है। व्यवस्था पूरी तरह से खत्म हो चुकी है और हम कानूनविहीन देश की तरफ आगे बढ़ रहे हैं।’


सुप्रीम कोर्ट की वकील वृंदा ग्रोवर ने तो पुलिस पर मुकदमा दर्ज करने की मांग की। उनका कहना है कि, ‘पुलिस पर मुकदमा दर्ज किया जानिए और पूरे मामले की स्वतंत्र न्यायिक जांच कराई जानी चाहिए। महिला के नाम में कोई भी पुलिस एनकाउंटर करना गलत है।’

क्या है पूरा मामला

बता दें हैदराबाद सामूहिक दुष्कर्म-मर्डर केस में चारों आरोपितों का शुक्रवार सुबह 3 से 6 बजे के बीच एनकाउंटर कर दिया गया है। पुलिस के मुताबिक, क्राइम सीन को रीक्रिएट करने के लिए शुक्रवार देर रात वे आरोपितों को उसी अंडरब्रिज पर लेकर पहुंचे थे, जहां इन्होंने दरिंदगी दिखाई थी। पूछताछ और घटना को रीक्रिएट करने के दौरान आरोपी भागने लगे। पुलिस से बचने के लिए उन्होंने पत्थर भी फेंके। ऐसे में पुलिस ने आत्मरक्षा में एनकाउंटर कर चारों आरोपितों को मार गिराया।

ये भी पढ़े…

जहां महिला डॉक्टर के साथ हुई दरिंदगी, पुलिस ने उसी जगह चारों आरोपितों को मार गिराया, जानें पूरी कहानी

बलात्कारियों को 6 महीने के भीतर सजा दिलाने के लिए अनशन पर अड़ीं स्वाति मालीवाल, पीएम मोदी को भी लिखा पत्र

हैदराबाद में हुई हैवानियत के बाद महिला पुलिस अधिकारी ने समाज से की ये महत्वपूर्ण अपील, हो रही वायरल

हैदराबाद: जिस जगह महिला डॉक्टर के साथ दुष्कर्म कर जलाया, वहीं मिला एक और महिला का जला हुआ शव

Related posts