हैदराबाद सामूहिक दुष्कर्म-हत्या : फॉरेंसिक रिपोर्ट में हुआ बड़ा खुलासा, महिला डॉक्टर को जबरन पिलाई गई शराब

hyderabad

चैतन्य भारत न्यूज

हैदराबाद. तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में महिला डॉक्टर से हुए सामूहिक दुष्कर्म और निर्मम हत्या के मामले ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया था। इस मामले को लेकर हर दिन नए-नए खुलासे हो रहे हैं। महिला डॉक्टर की डीएनए रिपोर्ट आने के बाद फॉरेंसिक जांच में भी नए खुलासे हुए हैं।


फॉरेंसिक रिपोर्ट के खुलासे

फॉरेंसिक जांच रिपोर्ट सामने आने के बाद इस बात की पुष्टि हो गई है कि महिला डॉक्टर को मारने से पहले आरोपियों ने जबरदस्ती उसे शराब भी पिलाई थी। अंग्रेजी अखबार द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, पोस्टमॉर्टम फॉरेंसिक टॉक्सिकोलॉजी में यह सामने आया है कि महिला डॉक्टर की लिवर टिशूज (liver Tissue) में शराब के अंश मिले हैं। इस मामले की जांच कर रही पुलिस ने कहा था कि, आरोपियों ने डॉक्टर को सामूहिक दुष्कर्म-हत्या करने से पहले जबरन शराब पिलाई थी।

डीएनए रिपोर्ट में क्या था?

बता दें इससे पहले महिला डॉक्टर की हड्डियों को DNA जांच के लिए भेजा गया था। रिपोर्ट के मुताबिक, ये DNA डॉक्टर के परिवारवालों से मिल गया है। इसके साथ ही डीएनए जांच में इस बात की भी पुष्टि हुई है कि घटनास्थल पर पाए गए सीमेन के दाग उन चारों आरोपियों के ही थे।

एनकाउंटर में मारे गए चारों आरोपित

बता दें 27 नवंबर की सुबह हैदराबाद के शादनगर क्षेत्र में महिला डॉक्टर का जला हुआ शव बरामद किया गया था। चारों ने डॉक्टर से सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद उसे जिंदा जला दिया था। फिर पुलिस ने चारों को धर दबोचा था। 6 दिसंबर को पुलिस चारों को क्राइम सीन रिक्रिएट कराने घटनास्थल ले गई थी। इस दौरान उन्होंने भागने की कोशिश की और फिर पुलिस ने एनकाउंटर में उन्हें मार गिराया। इस एनकाउंटर पर कई लोगों ने सवाल उठाए और अब यह मामला कोर्ट जा पहुंचा है।

शव को सुरक्षित रखने का आदेश

तेलंगाना हाईकोर्ट ने 9 दिसंबर को अधिकारियों को 13 दिसंबर तक चारों शवों को संरक्षित करने का आदेश दिया था। हाईकोर्ट के आदेश को अब सुप्रीम कोर्ट ने भी बरकरार रखा है। सुप्रीम कोर्ट ने यह भी स्पष्ट किया कि आयेाग की जांच के दौरान कोई अन्य कोर्ट जांच नहीं करेगा। इस मामले की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट ने तीन सदस्यीय आयोग का गठन किया है जिसकी अगुवाई हाई कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश वी एस सिरपुरकर कर रहे हैं।

ये भी पढ़े…

हैदराबाद एनकाउंटर पर उठ रहे सवाल, जांच के लिए राज्य सरकार ने किया SIT का गठन

हैदराबाद एनकाउंटर पर CJI बोबडे का बड़ा बयान, कहा- बदले की भावना से किया गया न्‍याय, इंसाफ नहीं

हैदराबाद : आरोपितों के परिजनों ने शवों को लेने से किया इंकार, पुलिस करेगी अंतिम संस्कार

हैदराबाद: जिस जगह महिला डॉक्टर के साथ दुष्कर्म कर जलाया, वहीं मिला एक और महिला का जला हुआ शव

 

 

Related posts