महज 12 साल की उम्र में साइंटिस्ट बना ये बच्चा, पिता को दिया श्रेय

hyderabad, siddharth srivastava pillai, software company,hyderabad software company

चैतन्य भारत न्यूज

हैदराबाद. आमतौर पर साफ्टवेयर कंपनियां अपने यहां अनुभवी लोगों को ही नौकरी पर रखती है। लेकिन हैदराबाद में एक नया मामला देखने को मिला जो काफी चर्चा में बना हुआ है।



दरअसल यहां की एक सॉफ्टवेयर कंपनी मोंटेजी स्मार्ट बिजनेस सॉल्यूशन ने 12 साल के एक बच्चे को डाटा साइंटिस्ट के तौर पर नियुक्त किया है। इसका नाम सिद्धार्थ श्रीवास्तव पिल्लई है और वह शहर के चैतन्य स्कूल में सातवीं कक्षा में पढ़ता है। इतनी कम आयु में इस मुकाम तक पहुंचने हेतु सिद्धार्थ अपने परिवार के लगातार प्रोत्‍साहन को श्रेय दिया है।

सिद्धार्थ का कहना है कि, उन्हें डाटा साइंटिस्ट बनने की प्रेरणा गूगल में सबसे कम उम्र में काम करने वाले तन्मय बख्शी से मिली। बता दें तन्मय बख्शी ने 3 साल की उम्र में ही गूगल में काम करना शुरू कर दिया था। सिद्धार्थ ने आगे कहा कि, ‘मैं अपने पिता का धन्यवाद करता हूं, क्योंकि उन्होंने मुझे कोडिंग करना सिखाया। इसी प्रेरणा की बदौलत मैं आगे बढ़ता गया और डाटा साइंटिस्ट बन गया। परिवार के लोग प्रेरणा देने का काम करते रहे और मैं पढ़ाई करता रहा। मैं आज जो कुछ भी हूं, अपने पिता की वजह से ही हूं।’

ये भी पढ़े…

7 साल का ये बच्चा सभी अमीरों को पछाड़कर बना अरबपति, फोर्ब्स की लिस्ट में पहले नंबर पर

आइंस्टीन से भी तेज है इस बच्चे का दिमाग, मात्र 9 साल की उम्र में हासिल करेगा ग्रेजुएशन की डिग्री

पढ़ते समय दिमाग की परतें कैसे करती हैं काम? शोधकर्ताओं ने पहली बार लगाया पता

Related posts