आईसीसी चेयरमैन के बचाव में आए सीईओ, कहा-टेस्ट क्रिकेट को थोड़ा बढ़ावा देने की जरूरत

टीम चैतन्य भारत

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के सीईओ डेव रिचर्डसन को ऐसा नहीं लगता कि टेस्ट क्रिकेट ने अपनी चमक गंवा दी है। डेव रिचर्डसन ने कहा कि, 5 दिवसीय प्रारूप को प्रशंसकों के बीच रुचि कायम रखने के लिए थोड़ा बढ़ावा देने की जरूरत है। हाल ही में डेव रिचर्डसन ने अपने इस बयान के जरिए आईसीसी के चेयरमैन शशांक मनोहर के हालिया बयान का बचाव किया है। दरअसल, शशांक मनोहर ने कहा था कि, ‘टेस्ट क्रिकेट धीरे-धीरे ‘खत्म’ हो रहा है।’

अधिक प्रासंगिकता की जरूरत

इसके बाद डेव रिचर्डसन ने शशांक मनोहर का बचाव करते हुए कहा, ‘उनके (मनोहर के) कहने का मतलब था कि टेस्ट क्रिकेट को अधिक प्रासंगिकता की जरूरत है।’उन्होंने आगे ये भी कहा कि, ‘हां, समय समय पर कुछ बेजोड़ मुकाबले होते रहते हैं, लेकिन अगर आप प्रतिनिधित्व करने वाली टीमों का हिस्सा या प्रशंसक नहीं है, तो उस निश्चित सीरीज को लेकर असली रुचि (वैश्विक स्तर पर प्रशंसकों के बीच) नहीं होती।’

सूत्रों के मुताबिक रिचर्डसन ने बातचीत का अंत करते हुए बताया कि, ‘विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के शुरू होने से इसमें रुचि बढ़ेगी और टेस्ट मैचों को वैश्विक स्तर पर बढ़ावा देने में मदद मिलेगी फिर चाहे कोई भी टीम खेल रही हो। वह यही कह रहे थे, टेस्ट क्रिकेट को इसी अतिरिक्त बढ़ावे की जरूरत है, और उम्मीद करते हैं कि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप इसका जवाब होगी।’

Related posts