‘भगवान कल्कि’ के 40 ठिकानों पर छापेमारी, 500 करोड़ से ज्यादा का काला धन उजागर

kalki bhagwan

चैतन्य भारत न्यूज

चेन्नई. खुद को ‘कल्कि भगवान’ कहने वाले कथित धर्मगुरु विजय कुमार नाडयू के ठिकानों पर आयकर विभाग ने छापेमारी की है। सूत्रों के मुताबिक, आयकर विभाग ने ‘कल्कि भगवान’ से जुड़े समूह के 40 ठिकानों पर छापेमारी करते हुए करीब 500 करोड़ रुपए से ज्यादा के काले धन का पता लगाया है।

40 ठिकानों पर चल रही कार्रवाई

जानकारी के मुताबिक, आयकर विभाग ने 16 अक्टूबर को आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और तमिलनाडु में ‘कल्कि भगवान’ के ठिकानों पर छापेमारी की। विभाग को यह खुफिया जानकारी मिली थी कि इनकी संस्था अपनी कमाई को छुपा रही है। इसके बाद धार्मिक प्रवचन और बेहतर जीवन जीने के तरीके सिखाने के नाम पर काला धन जमा करने वाले धर्मगुरु विजय के ठिकानों पर छापा मारा गया। बुधवार से ही समूह के चेन्नई, बेंगलुरू, हैदराबाद और वरदाइपलेम के करीब 40 ठिकानों पर इस छापे की कार्रवाई चल रही है।


500 करोड़ से ज्यादा अघोषित संपत्ति

समूह का संचालक धार्मिक गुरु और उसका पुत्र है। जांच में यह भी सामने आया कि इनके समूह के खातों में अनियमितता तो थी ही और साथ ही इनके पास बेहिसाब संपत्ति का भी खजाना था। सूत्रों के मुताबिक, आयकर विभाग ने छापेमारी में 18 करोड़ रुपए के अमेरिकी डॉलर, 88 किलो सोने के जेवरात जिसकी कीमत 26 करोड़ रुपए आंकी गई है, 1271 कैरेट हीरा, जिसका मूल्य 5 करोड़ रुपए है, सभी जब्त किया है। यदि इनके ठिकानों से मिली कुल अघोषित संपत्ति को जोड़ा जाए तो यह 500 करोड़ रुपए से भी ज्यादा है।

70 साल का स्वयंभू भगवान है विजय

विजय कुमार नाडयू की उम्र 70 साल है। यह शख्स खुद को भगवान विष्णु का 10वां अवतार बताता है। साल 1980 में इन्होंने जीवाश्रम नामक संस्था का निर्माण किया और लोगों को वैकल्पिक शिक्षा मुहैया कराने लगे। उस दौरान ही इन्होंने वननेस विश्वविद्यालय की भी शुरुआत की। विजय कुमार पहले एलआईसी में क्लर्क के पद पर नौकरी करते थे।

विदेशों में संपत्ति

जांच में यह भी सामने आया कि इनका कारोबार विदेशों में भी फैला हुआ है। इनके समूह ने अमेरिका, चीन, सिंगापुर, संयुक्त अरब अमीरात समेत कई देशों में निवेश किया है। भारत में आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में भी इस संस्था ने जमीनें खरीदी है। इनकी संस्था में कई विदेशी भी शामिल हैं।

ये भी पढ़े…

मप्र के मुख्यमंत्री के करीबियों पर आयकर छापे : 281 करोड़ के बेहिसाबी लेन-देन का शक

मप्र के मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी प्रवीण कक्कड़ और सहयोगियो के ठिकानों पर आयकर छापे

आयकर विभाग ने जब्त की भाई की संपत्ति तो भड़कीं मायावती, कहा- बीजेपी को अपने गिरेबान में भी झांकना चाहिए

Related posts