गलवान में झड़प के बाद चीन के कर्नल को बंधक बना लाई थी भारतीय सेना, इस शर्त पर छोड़ा!

india china war

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. पूर्वी लद्दाख (East Ladakh) की गलवान घाटी (Galwan Valley) में भारत और चीन के बीच हुई झड़प के बाद भारत की सेना ने चीन की सेना के कर्नल रैंक के एक अधिकारी को बंधक बना लिया था। हाल ही में सूत्रों के हवाले से यह जानकारी मिली है।

10 भारतीय जवानों के छोड़ने के बाद कर्नल को छोड़ा

बता दें इस झड़प में भारत के 20 बहादुरों से अपनी जान कुर्बान कर दी और कई जवान घायल हुए हैं। जानकारी के मुताबिक, जब चीनी सेना ने भारत के 10 जवानों को छोड़ा था उसके बाद जाकर चीनी सेना यानी पीएलए (PLA) के कर्नल को छोड़ा गया था। केंद्रीय मंत्री और पूर्व आर्मी चीफ जनरल वीके सिंह इस संबंध में दावा किया है कि चीन ने ही हमारे सैनिक नहीं लौटाए, भारत ने भी चीन के कई सैनिकों को वापस किया है। हालांकि, इस संबंध में अब तक सेना की ओर से आधिकारिक बयान नहीं जारी किया गया है।

भारतीय सेना ने अफवाहों को किया खारिज

भारतीय सेना ने गुरुवार को उन खबरों को भी खारिज कर दिया था जिसमें यह दावा किया गया था कि पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में तीन दिन पहले चीनी सैनिकों के साथ हुई हिंसक झड़पों के बाद उसके कई सैनिक लापता हैं। सेना ने अपने बयान में कहा था कि, ‘यह स्पष्ट किया गया है कि कार्रवाई में कोई भारतीय सैनिक लापता  नहीं हैं।’

ये भी पढ़े…

भारत-चीन विवाद पर पीएम मोदी के बयान पर उठे सवाल, PMO ने कहा- पीएम मोदी के कथन का गलत अर्थ न निकालें

भारत-चीन सीमा पर तनाव के कारण टला राम मंदिर का भूमिपूजन कार्यक्रम, शहीद जवानों को दी गई श्रद्धांजलि

नुकीली कील वाले सरिये और पत्थरों से चीनी सैनिकों ने किया भारतीय जवानों पर हमला, पहले से कर रखी थी प्लानिंग

Related posts