नुकीली कील वाले सरिये और पत्थरों से चीनी सैनिकों ने किया भारतीय जवानों पर हमला, पहले से कर रखी थी प्लानिंग

china nail weapon

चैतन्य भारत न्यूज

पिछले कुछ दिनों से भारत और चीन के बीच लद्दाख में तनाव की स्थिति बनी हुई थी। 15-16 जून की रात को ये तनाव हिंसक झड़प में तब्दील हो गया। इस झड़प में भारत के 20 जवानों ने अपनी जान कुर्बान कर दी। चीन ने बेहरमी से हमारे जवानों पर वार किया था। हाल ही में कुछ तस्वीरें सामने आई है जिसमें देखा जा सकता है कि चीनी सैनिकों ने किस तरह के नुकीले हथियारों से भारतीय सैनिकों को निशाना बनाया था।

नुकीली कीलों वाले मोटे सरियों से किया हमला

आपको बता दें लद्दाख की गलवान घाटी में गोलियां नहीं चली बल्कि चीनी सैनिकों ने घात लगाकर नुकीली कीलों वाले मोटे-मोटे सरियों से भारतीय सैनिकों पर हमला किया। तस्वीरों में साफ देखा जा सकता है कि कितने नुकीले हथियारों से चीन ने हमारे जवानों पर हमला किया था।

चीनी सैनिकों ने पहले से ही कर रखी थी हमला की तैयारी

न सिर्फ अभी बल्कि जब मई के शुरुआती महीने में भी चीन और भारत के सैनिकों के बीच झड़प हुई थी तब भी चीनी सैनिकों ने ऐसे ही हथियारों का इस्तेमाल किया था। 6 जून को भारत और चीन के सैनिकों ने बात करके ये तय किया था कि 15 जून के बाद से सैनिकों को पीछे भेजा जाना शुरू होगा। लेकिन 15 जून को शाम को जब बिहार रेजिमेंट के कमांडिंग अफसर कर्नल संतोष बाबू की अगुवाई में सैनिक पहुंचे, तो उन्होंने चीनी सैनिकों से वापस जाने को कहा। लेकिन चीनी सैनिकों ने पहले से ही हमले की तैयारी कर रखी थी और फिर उन्होंने भारतीय सेना पर हमला बोल दिया।

ऊंचे क्षेत्र में छुपकर बैठे थे चीनी सैनिक

आर्मी के सूत्रों के मुताबिक, चीन के कई सैनिक ऊंचे क्षेत्र में बैठे थे यही कारण रहा उन्होंने निचले हिस्से में मौजूद भारतीय सैनिकों को निशाना बनाया। चीनी सैनिक पहले से ही कवच पहनकर बैठे हुए थे। इसलिए जब भारतीय जवानों ने उन पर हमला किया तो उन्हें कम नुकसान हुआ। जहां पर भारत के जवान बात करने गए थे वहां भी इन नुकीले हथियारों को छुपाकर रखा गया था।

पीएम मोदी ने कहा- जवानों की शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी

भारत और चीन के बीच हुई इस हिंसक झड़प को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि, ‘जिन जवानों की शहादत हुई है, वो व्यर्थ नहीं जाएगी। हमें अपने जवानों पर गर्व करना चाहिए, वे मारते-मारते मरे हैं। भारत शांति चाहता है लेकिन भारत उकसाने पर हर हाल में यथोचित जवाब देने में सक्षम है।’

ये भी पढ़े…

भारत-चीन झड़प: जवानों की शहादत पर बोले प्रधानमंत्री मोदी- वे मारते-मारते मरे, हमारे जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा

लद्दाख बॉर्डर पर भारतीय-चीनी सेना से झड़प, भारत के एक अफसर-दो जवान शहीद, रक्षा मंत्री ने बुलाई बैठक

Related posts