6 साल में सबसे निचले स्तर 4.5% पर पहुंची देश की GDP, बढ़ सकता है बेरोजगारी का खतरा

india gdp

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. हर देश की आर्थिक सेहत उसके जीडीपी ग्रोथ के आंकड़े से पता चलती है। भारत की आर्थिक वृद्धि में गिरावट का सिलसिला लगातार जारी है। भारत के जीडीपी के आंकड़ों के मुताबिक, देश की आर्थिक स्थिति लुढ़क कर 6 साल पहले जैसी हो गई है। जानकारी के मुताबिक, चालू वित्त वर्ष (2019-20) की दूसरी तिमाही में जीडीपी का आंकड़ा 4.5 फीसदी तक पहुंच गया है। इससे कम जीडीपी 4.3% जनवरी-मार्च 2013 में रही थी।



शुक्रवार को केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय ने सितंबर तिमाही के आंकड़े जारी किए। सूत्रों के मुताबिक, विकास दर में 1% कमी आने से प्रति व्यक्ति मासिक आय 105 रुपए घट जाती है। विकास दर 5% से 4.5% पर आने का मतलब है कि प्रति व्यक्ति मासिक आय 53 रुपए घटी है। ऐसे में आय घटने से खर्च में कमी आएगी, इससे मांग भी कमजोर होगी। इसके जरिए बेरोजगारी बढ़ने का खतरा बढ़ सकता है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि देश की जीडीपी लगातार 6 तिमाही से गिर रही है। वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में विकास दर 8 फीसदी थी जो लुढ़ककर दूसरी तिमाही में 7 फीसदी पर आ गई।
वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में यह 6.6 फीसदी और चौथी तिमाही में 5.8 फीसदी पर थी।

सरकार के लिए बड़ी चुनौती

देश की आर्थिक स्थिति में लगातार हो रही गिरावट नरेंद्र मोदी सरकार के लिए बड़ी चुनौती है। दरअसल, मोदी सरकार अपने 5 साल के कार्यकाल में 5 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी के लक्ष्य पर काम कर रही है। अर्थशास्त्रियों के मुताबिक, इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए देश की जीडीपी ग्रोथ की दर 8 फीसदी से ज्यादा होनी चाहिए। सरकार ने आर्थिक सुस्ती से निपटने के लिए पिछले कुछ महीनों में कई फैसले लिए हैं। सरकार ने हाउसिंग सेक्टर, बैंकिंग सेक्टर, ऑटो सेक्टर की आर्थिक सुस्ती को दूर करने के लिए भी कई बड़े ऐलान किए हैं। हालांकि, अब तक सरकार के इन फैसलों का आर्थिक विकास दर पर कुछ खास असर नहीं दिख रहा।

ये भी पढ़े…

दुनिया की 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था से दो कदम नीचे लुढ़का भारत, ये है वजह

आर्थिक सर्वे 2019 : आगामी वर्षों में पांच ट्रिलियन डॉलर की बन सकती है भारतीय अर्थव्यवस्था, यहां देखें आर्थिक सर्वे की खास बातें

नोटबंदी के 3 साल पूरे : अब भी नकद लेनदेन करना पसंद कर रहे लोग, जानें भारतीय अर्थव्यवस्था पर इसका क्या असर पड़ा

Related posts