भारत में ई-सिगरेट पर प्रतिबंध लगेगा, उपयोग करने वाले जाएंगे जेल

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ई-सिगरेट के उत्पादन और आयात पर रोक लगाने जा रहा है। प्रतिबंध लागू होने पर इसे बनाने वाले जूल लैब्स और फिलिप मोरिस इंटरनेशनल के विस्तार की योजना ध्वस्त हो सकती है। मंत्रालय ने अपने प्रस्ताव में कहा है कि सरकार सार्वजनिक हित में इस उपकरण पर रोक लगाने का आदेश जारी करे। मंत्रालय ने कहा है कि ई-सिगरेट को बच्चों और युवकों में महामारी बनने से रोकने के लिए यह कदम जरूरी है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपने आंतरिक नोट में कहा है कि ई-सिगरेट और सार्वजनिक स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डालने वाले तंबाकू सेवन को प्रोत्साहन देने वाली उसकी जैसी दूसरी तकनीक का इस्तेमाल खतरनाक है। स्वास्थ्य अधिकारियों ने नए नियम का उल्लंघन करने वालों के लिए तीन साल जेल का प्रावधान करने का प्रस्ताव किया है। आदेश के मसौदे के अनुसार इस प्रतिबंध का उल्लंघन करने वाले लोगो पर पांच लाख रुपए जुर्माना भी किया जा सकता है। पहली बार पकड़े जाने पर एक साल जेल और एक लाख रुपए जुर्माने का प्रावधान भी किया जा रहा है।

Related posts