कोरोना वैक्सीन के लिए भारत ने दिया 600 मिलियन खुराक का प्री ऑर्डर

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस संक्रमण का प्रकोप अब भी जारी है। हालांकि, पहले ही तुलना में अब इसके मामलों में गिरावट आ रही है। भारत में कोरोना वायरस के मामले 82 लाख पार कर गए हैं। अब तक 1 लाख 20 हजार से ज्यादा लोगों की जान इस वायरस के संक्रमण से जा चुकी है। भारत की तीन कंपनियां भी कोरोना की वैक्सीन बनाने पर काम कर रही है। इस बीच भारत ने कोरोना वायरस वैक्सीन की 600 मिलियन खुराक के प्री-ऑर्डर के लिए अपनी विनिर्माण क्षमता का इस्तेमाल किया है।

जानकारी के मुताबिक, भारत इसके बाद एक अरब खुराक के लिए बातचीत भी कर रहा है। एक स्टडी के मुताबिक, इतनी वैक्सीन भारत की कम से कम आधी आबादी का टीकाकरण करने के लिए पर्याप्त है। ज्यादातर टीकाकरण में दो खुराक की जरूरत पड़ती है। ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ में प्रकाशित एक खबर के अनुसार, ग्लोबल एनालिसिस कंपनी एडवांस मार्केट कमिटमेंट्स (Advance Market Commitments) ने अपनी हालिया स्टडी में इसकी जानकारी दी है।

यानी अमेरिका के बाद भारत ऐसा दूसरा देश हैं जिसने वैक्सीन के लिए इतने ज्यादा आर्डर दिए हैं। बता दें अमेरिका ने कोरोना वैक्सीन के लिए पहले 810 मिलियन खुराक का ऑर्डर दिया था और अब 1।6 बिलियन के लिए बातचीत जारी है। दुनिया में अमेरिका और भारत ही ऐसे दो देश हैं जो कोरोना का सबसे ज्यादा कहर झेल रहे हैं। ड्यूक ग्लोबल हेल्थ इनोवेशन सेंटर के असिस्टेंट डायरेक्टर (प्रोग्राम) एंड्रिया डी टेलर बताते हैं, ‘यूएसए ने सबसे बड़ी संख्या (810 मिलियन) खुराक का प्री-ऑर्डर दे दिया है। इसके बाद भारत ने 600 मिलियन खुराक के प्री ऑर्डर की पुष्टि की है और 1 अरब खुराक के लिए बातचीत जारी है। यूरोपीय संघ ने 400 मिलियन खुराक की पुष्टि की। साथ ही 1।565 अरब खुराक के लिए बातचीत जारी है। कनाडा ने अपनी जनसंख्या के 527% हिस्से को कवर करने के लिए पर्याप्त वैक्सीन खरीद ली है, इसके बाद ब्रिटेन का नंबर आता है।’

Related posts