वायुसेना दिवस: हिंडन में राफेल विमान ने पहली बार दिखाया दम, अपाचे और एम-35 ने दिखाए करतब, चीफ बोले- हम हर हालात से लड़ने को तैयार

चैतन्य भारत न्यूज

भारतीय वायुसेना 8 अक्टूबर को अपनी 88वीं वर्षगांठ मना रही है। इस मौके पर गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस पर कार्यक्रम हुआ। हिंडन एरयबेस पर वायुसेना परेड हुई। इसके बाद राफेल, सुखोई, एलसीए तेजस, जगुआर के साथ दूसरे विमान ने फ्लाई पास्ट करके आसमान में दुनिया को भारत की ताकत दिखाई। जिसमें वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने देश को संबोधित करते हुए कहा कि, मैं राष्ट्र को आश्वस्त करना चाहता हूं कि भारतीय वायु सेना विकसित होगी और देश की संप्रभुता और हितों की रक्षा के लिए सभी परिस्थितियों के लिए हमेशा तैयार रहेगी।


वायुसेना प्रमुख ने उत्कृष्ट सेवा करने वाले जवानों को सम्मानित किया। उन जवानों को भी सम्मानित किया गया जिन्होंने बालाकोट एयर स्ट्राइक की थी। वहीं इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वायु वीरों को शुभकामनाएं दीं।


फ्रांस से हाल ही में आए पांच राफेल लड़ाकू विमानों में से दो विमान यहां मौजूद रहे, जिसमें से एक ने उड़ान भरी। राफेल ने जब आसमान में अपना दम दिखाया, तो हर कोई देखता रह गया। राफेल के साथ जगुआर लड़ाकू विमानों ने फॉर्मेशन तैयार की थी, जो कि शानदार नज़ारा रहा। इस दौरान राफेल ने आसमान में करतब दिखाए। बता दें इस बार फ्लाइ पास्ट में कुल 56 विमान शामिल हुए, जिनमें देशी-विदेशी कई लड़ाकू और अन्य विमान-हेलिकॉप्टर शामिल रहे। इनके अलावा सूर्यकिरण और सारंग टीम ने भी अपनी ताकत का एहसास करवाया।


वायुसेना प्रमुख ने हाल ही में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर भारत चीन तनाव के बीच वायुसेना की तैनाती पर कहा कि, ‘मैं उत्तरी सीमा पर हाल ही में गतिरोध में त्वरित प्रतिक्रिया के लिए सभी वायु योद्धाओं की सराहना करता हूं, जब हमने किसी भी घटना को संभालने के लिए कम समय पर अपनी लड़ाकू संपत्ति तैनात की और भारतीय सेना के लिए तैनाती और जरूरत की सभी आवश्यकताओं के लिए अपनी मदद दी।’


उन्होंने कहा कि हमें अपने योद्धाओं पर गर्व है और हम अपने शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं। वायुसेना प्रमुख ने कहा कि मौजूदा परिस्थितियों ने हमें और ताकतवर तैयारी करने के लिए सजग किया है। वायुसेना लगातार अपने बेड़े में नए विमानों को शामिल कर रही है, अपाचे और राफेल इसका ही उदाहरण हैं। कई पुराने एयरक्राफ्ट का अपग्रेडेशन भी किया जा रहा है।

Related posts