भारतीय सेना ने 147 और महिला अधिकारियों को दिया स्थायी कमीशन

चैतन्य भारत न्यूज

भारतीय सेना ने बयान जारी कर कहा कि 147 और महिला अधिकारियों को स्थायी कमीशन (पीसी) प्रदान किया जा रहा है। सेना ने बुधवार को बताया कि अब स्थायी कमीशन के लिए जिन 615 महिला अधिकारियों पर विचार किया गया था, उनमें से 424 को यह दिया जा चुका है। प्रशासनिक कारणों से कुछ महिला अधिकारियों के परिणाम रोके गए हैं। सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार द्वारा दायर स्पष्टीकरण याचिका के परिणाम की प्रतीक्षा है।

सुप्रीम कोर्ट को घटनाक्रम की जानकारी देते हुए भारतीय सेना ने कहा कि, कुछ महिला अधिकारियों के परिणाम प्रशासनिक कारणों से रोके गए थे और कुछ स्पष्टीकरण याचिका के परिणाम की प्रतीक्षा कर रहे थे। पीआईबी की ओर से जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि, स्थायी कमीशन पाने वाली सभी महिला अधिकारियों को विशेष प्रशिक्षण पाठ्यक्रम से गुजरना होगा और भारतीय सेना में उच्च नेतृत्व की भूमिकाओं के लिए उन्हें सशक्त बनाने के लिए चुनौतीपूर्ण सैन्य असाइनमेंट पूरे करने होंगे। इसमें यह भी कहा गया है कि, 33 महिला अधिकारियों के एक बैच ने पहले ही मध्य स्तर के टेक्टिकल ओरिएंटेशन पाठ्यक्रम को पूरा कर लिया है।

बता दें 17 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट ने एक अहम फैसले में केंद्र सरकार की दलील को खारिज करते हुए उन सभी महिला अफसरों को स्थायी कमीशन देने को कहा था, जो इस विकल्प को चुनना चाहती हैं। महिलाओं को कमांड पोस्ट न देने के पीछे केंद्र ने अपनी दलील में शारीरिक क्षमताओं और सामाजिक मानदंडों का हवाला दिया था। कोर्ट ने कहा था कि महिलाओं को लेकर मानसिकता बदलनी चाहिए। महिलाएं पुरुषों से कंधे से कंधा मिलाकर काम करती हैं।

Related posts